Default Theme
AIIMS NEW
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली
All India Institute Of Medical Sciences, New Delhi
कॉल सेंटर:  011-26589142

प्रोफेसर एस के शर्मा



प्रोफेसर एस के शर्मा

ई-मेल आईडी : यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

स्काइप आईडी Skype ID: sksharma.aiims

 

 

रोगियों के लिए समय तय करने हेतु सम्पर्क विवरण

कायचिकित्सा कार्यालय

फोन नं. : 91-11-26593303, 91-11-26594415, 7503297730

फैक्‍स नंबर : 91-11-2658-9994

ई-मेल आईडी : यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए. , यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

 

डॉ रागेश नायर (मुख्य रेजीडेंट)

फोन नं. : 9910567281

ई-मेल आईडी : यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

 

ओपीडी और क्लिनिकों के लिए अनुसूची

ओपीडी : सोमवार की सुबह

 गुरुवार की सुबह

 

निद्रा क्लिनिक और संक्रामक रोग (आईडी) क्लिनिक : सोमवार की दोपहर

 

चेस्ट क्लिनिक : शुक्रवार की दोपहर

विभाग में प्रयोगशालाओं के लिए सम्पर्क विवरण

 

क. डॉट्स सेंटर (एसबीआई बैंक, कमरा नं 41 के पास) :

फोन नं. 91-11-26546410

 

ख. निद्रा प्रयोगशाला (रातभ र पॉलीसोमनोग्राफी के लिए) :

फोन नं. 9868397059 (Duty Mobile)

 

ग. पल्मोनरी फंक्शन टेस्ट (पीएफटी) प्रयोगशाला*, कमरा नं 34 :

फोन नं. 91-11-26594339

 

घ. काय चिकित्सा ओपीडी, कमरा नं. : 29

फोन नं. 91-11-26594339

 

ड. क्षय रोग प्रयोगशाला :  

फोन नं. 9716525478 (ठोस संवर्धन)

9811968277 (तरल संवर्धन)

8800262404 (लाइन प्रोबआमापन)

9871376090 (जीनएक्‍सपर्ट)

 

* पीएफटी की रिपोर्ट ड्यूटी पर जे आर / एस आर द्वारा हस्ताक्षर के बाद उसी दिन में प्रदान की जाती है।

 


 

अनुसंधान के क्षेत्र :

1) तपेदिक :

एलटीबीआई

एम / एक्सडीआर – टीबी

एटीटी प्रेरित डीआईएलआई / डीआईएच

क्षय रोग का त्वरित निदान

प्लुरल फ्लुइड प्रोटिओमिक्स

 

2) एचआईवी

एचआईवी-टीबी

आईआरआईएस

एआरटी एंड एटीटी : औषध सहभागिता

एआरटी दौरान डिसलिपिडेमिया

अवसरवादी संक्रमण

 

3) अन्य संक्रामक रोग

आंतों का बुखार

मलेरिया

डेंगू

चिकनगुनिया

लेप्टोस्पाइरोसिस

वायरल रोग

 

4) निद्रा के विकार :

ओएसए और ओएसएएस

भारत में ओएसए और ओएसएएस के महामारी विज्ञान

ओएसए और ओएसएएस के परिणाम

चयापचय संलक्षण

उपचार के प्रभाव

ओएसएएस पर राष्ट्रीय दिशानिर्देश

निद्रा के विकारों के लिए राष्ट्रीय रजिस्ट्री

ओएसएएस और उच्च रक्तचाप

ओएसए और गर्भावस्था

अनिद्रा

एम्‍बुलेटरी बीपी निगरानी

मूत्र और प्लाज्मा प्रोटियोमिक्स और मेटाबोलोमिक्‍स

 


 

5) महत्वपूर्ण देखभाल

एआरएसडी / एएलआई

रोगी वेंटीलेटर एसिंक्रोनी

एआरएसडी / एएलआई में लंग मैकेनिक्स

सेप्सिस / सेप्टिक के आघात

वेंटीलेटर संबद्ध न्यूमोनिया

नोसोकोमियल संक्रमण

निद्रा में अशांति

न्‍यूरली एडजस्‍टेड वेंटीलेटर असिस्ट (एनएवीए)

 

6) सांस

सीओपीडी

ब्रोन्कियल अस्थमा

मध्यवर्ती फेफड़ों के रोग

फेफड़ों के रोग

सार्कोइडोसिस

धूम्रपान समाप्ति

फेफड़े का पुनर्वास

 

सम्‍मान और पुरस्‍कार : 39

 

क्र. सं.

पुरस्‍कार

वर्ष

1.

योग्‍यता छात्रवृत्ति

1965-67

2.

हिमाचल प्रदेश विश्‍वविद्यालय में प्रथम शिमला में मेट्रिक की परीक्षा

1967

3.

पूर्व विश्वविद्यालय, मध्यवर्ती विश्वविद्यालय और चिकित्सा महाविद्यालय में राष्‍ट्रीय योग्‍यता छात्रवृत्ति

1967-73

4.

श्‍वसन रोगों पर सातवें राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में सर्वोत्तम शोध पत्र प्रस्‍तुति करण के लिए इण्डियन चेस्‍ट सोसायटी का सरोज ज्‍योति पुरस्‍कार

1987

5.

श्‍वसन रोगों पर आठवें राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में सर्वोत्तम शोध पत्र प्रस्‍तुति करण के लिए इण्डियन चेस्‍ट सोसायटी का सरोज ज्‍योति पुरस्‍कार (इण्डियन चेस्‍ट सोसायटी)

1989

6.

ब्रिटिश मेडिकल काउंसिल फॉर मेडिकल एजुकेशन एण्‍ड टेक्‍नोलॉजी का इंडो ब्रिटिश पुरस्‍कार

1990

7.

इंटरस्‍टीशियल फेफड़ा रोग में ब्रोंको एल्‍वेओलर लावाज़ (बीएएल) के अनुप्रयोग के लिए इंडियन काउंसिल मेडिकल रिसर्च आईसीएमआर का प्रथम शकुंतला अमीर चंद्र पुरस्‍कार

1991

8.

जैव प्रौद्योगिकी विभाग (विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार) द्वारा दीर्घ
अ‍वधि एसोसिएटशिप पुरस्‍कार।
पल्‍मोनरी इम्‍यूनोलॉजी और मॉलिक्‍युलर बायोलॉजी विभाग में मे‍सेशूट्स जर्नल हॉस्पिटल में कार्यरत (हार्वर्ड मेडिकल स्‍कूल), बोस्‍टन, यूएसए

1993

(1वर्ष)

9.

'भारत में धूल से होने वाली व्‍यावसायिक और पर्यावरण संबंधी समस्‍या' विषय पर एनवायरोटेक साइंटिफिक लेख प्रतियोगिता 1994 में 1100 रुपए का नकद पुरस्‍कार और योग्‍यता प्रमाण पत्र

1994

10.

तपेदिक के क्षेत्र में अनुसंधान कार्य के योगदान हेतु कंपनियों के राजगढिया समूह का स्‍वर्ण पदक पुरस्‍कार

1996

11.

आईसीएमआर का प्रतिष्ठित अमृत मोदी पुरस्‍कार (सीने के रोग)

1996

12.

भारत में प्रायोगिक दवाओं के लिए एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन का डॉ. कोल्हो मैमोरियल ओरेशन अवॉर्ड

1997

13.

मे. टाटा फार्मा फॉर केयर ऑफ टीबी पेशेंट्स का केवी केयर पुरस्‍कार

1997

14.

अमेरिकन बायोग्राफिकल इंस्‍टीट्यूट, यूएसए का 2000 मिलेनियम गोल्‍ड मैडल

1998

15.

कायचिकित्‍सा के क्षेत्र में अनुसंधान योगदान के लिए कायचिकित्‍सा में डॉ. राजमल कासलिवाल पुरस्‍कार

2001

16.

जैव प्रौद्योगिकी विभाग (विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार) द्वारा अल्‍पावधि एसोसिएट शिप पुरस्‍कार

2001

17.

चिकित्‍सा विज्ञान के क्षेत्र में योगदान के लिए डॉ. प्रेम चंद्र दण्डिया एण्‍डोमेंट ट्रस्‍ट ओरेशन

2002

18.

एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन ऑफ इण्डिया (एपीआई) दिल्‍ली राज्‍य अध्‍याय का डॉ. आर. एन. चुग ऑरेशन अवॉर्ड

2003

19.

एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन ऑफ इण्डिया का सर्ल ओरेशन अवॉर्ड

2005

20.

क्लिनिकल अनुसंधान में मेडिकल काउंसिल ऑफ इण्डिया का हरि ओम आश्रम एलेंबिक अनुसंधान पुरस्‍कार

2005

21.

कायचिकित्‍सा (श्‍वसन रोग) में इण्डिया काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च का एम एन सेन ऑरेशन अवॉर्ड

2005

22.

पल्‍मोनरी चिकित्‍सा और संबद्ध विषयों में नेशनल कॉलेज ऑफ चेस्‍ट फिजिशियन, भारत एन सी सी पी (आई) का ल्‍यूपिन चेस्‍ट ऑरेशन अवॉर्ड

2005

23.

तपेदिक, एचआईवी और सारकोईडोसिस के क्षेत्र में क्लिनिकल अनुसंधान के लिए रैनबैक्‍सी रिसर्च अवॉर्ड 2005

2006

24.

 

क्लिनिकल अनुसंधान में आईसीएमआर बसंती देवी अमीर चंद्र पुरस्‍कार (दूसरा उच्चतम आईसीएमआर पुरस्कार)

2007

25.

 

'डेविडसंस क्लिनिकल केसिस' नामक पुस्‍तक के लिए ब्रिटिश मेडिकल एसोसिएशन का प्रथम पुरस्‍कार (प्रथम संस्‍करण 2008)

2008

 

26.

एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन ऑफ इण्डिया (एपीआई) (आईसीपी के शीर्ष व्‍याख्‍या पुरस्‍कार का रविन्‍द्र नाथ टैगोर ऑरेशन – 2010 इंडिया कॉलेज ऑफ फिजिशियन (आईसीपीएस)

2010

27.

डॉ. देवी चंद्र मेमोरियल ऑरेशन गोल्‍ड मैडल

2010

28.

असाधारण रैफरी के लिए वी आर जोशी जे ए पी आई पुरस्‍कार

2010

29.

भारतीय ट्यूबरकुलोसिस एसोसिएशन के डॉ आर सी जैन का जीवन उपलब्धि पुरस्कार

2011

30.

एसवीआईएमएस, तिरुपति की डॉ कृष्णन और डॉ श्रीकला चिकित्सा चेयर ओरेशन

2011

31.

प्रेस्टीजियस इंडियन स्लीप डिसऑर्डर एसोसिएशन (आईएसडीए) फिलिप्स रेस्पिरोनिक्स ओरेशन

2012

32.

इंडियन चेस्ट सोसायटी (आईसीएस) के डॉ के. जे. आर. मूर्ति ओरेशन अवार्ड -2012

2012

33.

जर्नल लंग इंडिया के लिए शीघ्र रेफर पुरस्कार

2012

34.

विज्ञान और अभियांत्रिकी अनुसंधान बोर्ड विभाग (एसईआरबी), विज्ञान मंत्रालय, अनुसंधान और विज्ञान से संबंधित गतिविधियों को बढ़ाने के लिए व्यक्तिगत प्रोत्साहन हेतु भारत सरकार के प्रतिष्ठित जे सी बोस फैलोशिप पुरस्कार

2013

35.

एसोसिएशन ऑफ फिजिशियंस ऑफ इंडिया के नैदानिक और सेवा गतिविधियों में प्रतिष्ठित डॉ जीवराज मेहता पुरस्कार

2014

36.

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान उत्कृष्टता अनुसंधान पुरस्कार

2014

37.

सबसे प्रतिष्ठित और उच्चतम चेस्ट ओरेशन पुरस्कार – एनएपीसीओएन में नेशनल कॉलेज ऑफ चेस्‍ट फिजिशियंस, भारत (आई) के प्रोफेसर रमन विश्वनाथन मेमोरियल चेस्ट ओरेशन पुरस्कार

2014

38.

सर्वश्रेष्ठ रेफरी के लिए लंग इंडिया एवार्ड, भारतीय चेस्ट सोसायटी

2014

39.

फिजिशियंस ऑफ एसोसिएशन इंडिया की नैदानिक और सेवा गतिविधियों में प्रतिष्ठित डॉ. जीवराज मेहता पुरस्कार

2015

 

कुल प्रकाशन

479

अंतरराष्‍ट्रीय

 

प्रकाशित

183

प्रेस में

01

-

राष्‍ट्रीय

प्रकाशित

170

अप्रकाशित

-

पुस्‍तकें

12

प्रकाशित

10

प्रेस में

2

पुस्‍तक के अध्‍याय

109

प्रकाशित

107

प्रेस में

02

पुस्‍तक समीक्षा

05

प्रकाशित

05

प्रेस में

-

विशेष निबंध

02

लोकप्रिय लेखक

03

अनुसंधान अनुदान

51

 

प्रशस्ति पत्र सूचकांक Citation Index

 

उल्लेखित पत्र

262

कुल प्रशंसा पत्र

3314

औसत प्रशंसा पत्र

8.59

>=10 प्रशंसा पत्र के साथ पत्र

97

एक पत्र द्वारा प्राप्त अधिकतम प्रशंसा पत्र

143

एच - सूचकांक

29

संपादकीय कमेंट्री द्वारा कवर पत्र

10

आमंत्रित समीक्षा और निबंध

7

अंतरराष्ट्रीय प्रकाशित अध्ययन के लिए भारत में प्रधान अन्वेषक

16

प्रेस में पत्र या संशोधन

3

 


 

पुस्‍तकें

1.       शर्मा एस के, बेहरा डी, मोहन ए (एडिटर्स). रिसेंट एडवांसिस इन रेस्‍पीरेटरी मेडिसिन. नई दिल्‍ली: जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; वॉल्‍यूम 1 (पहला संस्‍करण) 1998

2.       शर्मा एस के, बेहरा डी, मोहन ए (एडिटर्स). रिसेंट एडवांसिस इन रेस्‍पीरेटरी मेडिसिन. नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; वॉल्‍यूम 1 (पहला संस्‍करण) रिप्रिंट 2005

3.       शर्मा एस के, बेहरा डी, मोहन ए (एडिटर्स). रिसेंट एडवांसिस इन रेस्‍पीरेटरी मेडिसिन. नई दिल्‍ली: जे पी ब्रदर्स मेडि‍कल पब्लिशर्स; वॉल्‍यूम 2 (पहला संस्‍करण) 2005

4.       शर्मा एस के, (एडिटर). मोहन ए (एसिस्‍टेंट एडिटर). ट्यूबरकुलोसिस. नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; (पहला संस्‍करण) 2001

5.       शर्मा एस के, (एडिटर). मोहन ए (एसिस्‍टेंट एडिटर). ट्यूबरकुलोसिस. नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; (पहला संस्‍करण) रिप्रिंट 2004

6.       शर्मा एस के, (एडिटर). मोहन ए (एसिस्‍टेंट एडिटर). ट्यूबरकुलोसिस. नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; (पहला संस्‍करण) रिप्रिंट 2006

7.       स्‍ट्रेचन एम डब्‍ल्‍यूजे, शर्मा एस के, हंटर जे ए ए (एडिटर). डेविडसन क्लिनिकल केसिस (पहला संस्‍करण). इडिंबर्ग (यूके) : चर्चिल, लिविन्‍गस्‍टोन एल्‍सवियर लि.; 2008

8.       शर्मा एस के, (एडिटर). मोहन ए (एसिस्‍टेंट एडिटर). ट्यूबरकुलोसिस (दूसरा संस्‍करण). नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; 2009

9.       शर्मा एस के, सिंगल आर के, अग्रवाल ए के (एडिटर्स). एडल्‍ट इम्‍यूनाइजेशन. नई दिल्‍ली : एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन ऑफ इण्डिया; 2009

10.   स्‍ट्रेचन एम डब्‍ल्‍यू जे, शर्मा एस के, हंटर जे ए ए (एडिटर). डेविडसन क्लिनिकल केसिस (दूसरा संस्‍करण). एडिंबर्ग (यूके): चर्चिल, लिविंगस्‍टोन एल्‍सवियर लि.; 2012

11.   शर्मा एस के, मोहन ए (एडिटर). सिनोप्सिस ऑफ पल्‍मोनरी मेडिसिन. नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स;  मई 2013 (प्रेस में)

12.   शर्मा एस के, मोहन ए (एडिटर्स). ट्यूबरकुलोसिस (तीसरा एडशिन). नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स;  मई 2013 (तैयारी के अधीन)  

 

पुस्‍तकों के संपादक / सदस्‍य

 

संपादक

·          रिसेंट एडवांसिस इन रेस्‍पीरेटरी मेडिसिन खण्‍ड 1 (प्रथम संस्‍करण), नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; 1998

·          ट्यूबरकुलोसिस (प्रथम संस्‍करण), नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; 2001

·          ट्यूबरकुलोसिस (पुन: मुद्रण), नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; रीप्रिंट 2004

·          रिसेंट एडवांसिस इन रेस्‍पीरेटरी मेडिसिन., खण्‍ड 1 (प्रथम संस्‍करण) रीप्रिंट, नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; 2005

·          रिसेंट एडवांसिस इन रेस्‍पीरेटरी मेडिसिन खण्‍ड 2 (प्रथम संस्‍करण), नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; 2005

·          ट्यूबरकुलोसिस (दूसरा संस्‍करण), नई दिल्‍ली : जे पी ब्रदर्स मेडिकल पब्लिशर्स; 2008

·          डेविडसन्‍स क्लिनिकल केसिस (प्रथम संस्‍करण), एडिनबर्ग (यूके): चर्चिल, लिविंगस्‍टोन एल्‍सेवीयर लि.; 2008

·          मोनोग्राफ ऑन ''एडल्‍ट इम्‍यूनाइजेशन'', नई दिल्‍ली : एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन ऑफ इण्डिया (एपीआई); 2009

·          डेविडसन्‍स 100 क्लिनिकल केसिस (दूसरा संस्‍करण) एडिनबर्ग (यूके) : चर्चिल, लिविंगस्‍टोन एल्‍सेवीयर लि.; 2008

·          सिनोप्सिस ऑन पल्‍मोनरी मेडिसिन फॉर पीएनबी स्‍टुडेंट एण्‍ड पोस्‍ट ग्रेजुएट्स

·          मोनोग्राफ ऑन ''एडल्‍ट इम्‍यूनाइजेशन 2014'' (तैयारी के अधीन)

·          ट्यूबरकुलोसिस (तीसरा संस्‍करण) (प्रेस में)

 

अनुभागीय संपादक

·         पल्‍मोनॉलोजी अनुभाग, औषधि की एपीआई पाठ्यपुस्‍तक 8वां संस्‍करण, 2008

·         पल्‍मोनॉलोजी अनुभाग, औषधि की एपीआई पाठ्यपुस्‍तक 9वां संस्‍करण, 2012

·         क्लिनिकल फार्माकोलॉजी पर पाठ्य पुस्‍तक (11वां संस्‍करण) लेखक बेन्‍नेट पीएन, ब्राउन एमजे, शर्मा पी, 2012

·         पल्‍मोनॉलोजी अनुभाग, औषधि की एपीआई पाठ्य पुस्‍तक 10वां संस्‍करण

·         क्रांतिक रक्षा औषधि अनुभाग, औषधि की एपीआई पाठ्य पुस्‍तक 10वां संस्‍करण

 

कार्यकारी संपादक

·         भारत के सहचारी चिकित्‍सक (एपीआई) औषधि की पाठ्य पुस्‍तक 9वां संस्‍करण 2012

·         भारत के सहचारी चिकित्‍सक (एपीआई) औषधि की पाठ्य पुस्‍तक 10वां संस्‍करण

 

अंतरराष्‍ट्रीय सलाहकार समिति सदस्‍य

·         नैदानिक औषधि : कुमार और क्‍लार्क पाठ्य पुस्‍तक द्वारा (6वां संस्‍करण) 2005

·         डेविडसन के सिद्धांत और औषधि का व्‍यवहार (20वां संस्‍करण) 2006

·         डेविडसन के सिद्धांत और औषधि का व्‍यवहार (21वां संस्‍करण) 2010

·         डेविडसन के सिद्धांत और औषधि का व्‍यवहार (22वां संस्‍करण) (आयोजनाधीन)

 

राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय समितियां

 

अध्‍यक्ष / उपाध्‍यक्ष

·         2003 से 2011 तक स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत भारत के टीबी नियंत्रण कार्यक्रम में चिकित्‍सा स्‍कूलों / कॉलेजों के संबंधित होने पर राष्‍ट्रीय कार्यबल।

·         2004-06 में दिल्‍ली के टीबी नियंत्रण कार्यक्रम एनसीटी में चिकित्‍सा कॉलेजों के संयोजन पर राज्‍य कार्यबल

·         भारत में फुप्‍फुस स्‍वास्‍थ्‍य बढ़ाने पर विशेषज्ञ समूह, क्षय रोग तथा अन्‍य फुप्‍फुस रोगों के विरुद्ध अंतरराष्‍ट्रीय यूनियन (आईयूएटीएलडी) 2004

·         आरएनटीसीपी के लिए प्रचालन अनुसंधान के लिए केंद्रीय स्‍थायी समिति, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार 2005 से अब तक।

·         एम/एक्‍सडीआर-टीबी के उपचार पर दिशानिर्देश बनाने के लिए समिति, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, 2005

·         राष्‍ट्रीय एआईडीएस नियंत्रण संस्‍था (एनएसीओ) द्वारा स्‍थापित बोली मूल्‍यांकन समिति की बैठक में अध्‍यक्ष (एनएसीओ), स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, बोली मूल्‍यांकन रिपोर्ट को अंतिम रूप देने के लिए 6 मार्च, 2006 

·         लौकी के रस के विशेष संदर्भ में वनस्‍पति रसों की खपत की सुरक्षा में देखने के लिए महा निर्देशक, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान समिति द्वारा स्‍थापित विशेषज्ञ समूह, अक्‍तूबर 2010

·         औषधि (श्‍वसन रोगों) के लिए मानक उपचार दिशानिर्देश (एसटीजीएस) के विकास के लिए विशेषज्ञों के समूह का नेता, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा स्‍थापित 2010-11

·         उपाध्‍यक्ष, आरएनटीसीपी सीबी-एनएएटी परियोजना पर संचालन समिति, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, जनवरी 2012, नई दिल्‍ली।

·         मुंबई, में औषधि प्रतिरोधी टीबी कार्यक्रम प्रबंध (पीएमडीटी) की समीक्षा के लिए एमओएच और एफडब्‍ल्‍यू, जीओआई के दल का नेता, अगस्‍त 2012.

·         उपाध्‍यक्ष, 'संशोधित राष्‍ट्रीय ट्यूबरकुलोसिस नियंत्रण के अंतर्गत ट्यूबरकुलोसिस के निदान तथा प्रबंधन ''पर राष्‍ट्रीय विशेषज्ञ समिति, 3 दिसंबर 2012 से 3 वर्ष के लिए।

·         अध्‍यक्ष, ''मोबाइल टावरों तथा हैंड सेटों से जीवन तथा संबंधित आर एण्‍ड डी उपक्रमणों पर ईएमएफ़ विकिरण उद्घाटन के संभावित प्रवाह'' पर प्रस्‍तावों के मूल्‍यांकन के लिए विशेषज्ञ समिति, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय, जीओएल 

·         अध्‍यक्ष, आईएनओएसए दिशानिर्देश 2013, स्‍वास्‍थ्‍य अनुसंधान विभाग, स्‍वास्‍थ्‍य तथा परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार और भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद्

·         अध्‍यक्ष, संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत डायग्‍नोस्टिक एल्‍गोरिथम के लिए उप समि‍ति (आरएनटीसीपी), स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार। 

·         अध्‍यक्ष, स्‍वामी विवेकानंद योग अनुसंधान समस्‍थान, बैंगलोर को 12बी स्थिति देने के लिए यूजीसी विशेषज्ञ समिति।

·         अध्‍यक्ष, वक्ष अनुसंधान आधार पर राष्‍ट्रीय एचओडी बैठक, पुणे।

·         अध्‍यक्ष, तीर्थाकर महावीर विश्‍व विद्यालय, देहली मार्ग, मुरादाबाद, उ. प्र. की नीतिशास्‍त्र समिति

·         अध्‍यक्ष, केंद्रीय टीबी विभाग, एमओएच और एफडब्‍ल्‍यू, भारत सरकार के साथ राष्‍ट्रीय ईपीटीबी दिशानिर्देश

 

परामर्शदाता  

·         ''पुनरावर्ती न्‍यून श्‍वसन संदूषण, गैस्‍ट्रोईसोफेजियल रीफ्लक्‍स और बच्‍चों में श्‍वसनी दमा के बीच संबंध का अध्‍ययन ''शीर्षक से अंतरराष्‍ट्रीय परियोजना, परियोजना को निधि अंतरराष्‍ट्रीय एटॉमिक ऊर्जा एजेंसी (आईएईए), विएना, ऑस्‍टरिया ने दी। सभाएं हुईं टाइजर बर्ग (दक्षिण अफ़रीका), चियांग भाई (थाईलैण्‍ड) और बोगोटा (दक्षिण अमेरिका) में 2000 – 2003

·         इन्‍नोवेटिव न्‍यू डायगनोस्टिक्‍स के लिए फाउंडेशन (एफ़आईएनडी) की जन स्‍वास्‍थ्‍य परामर्श समिति, जेनेवा 2006

·         अंतरराष्‍ट्रीय बहुदेशीय परियोजना का मुख्‍य वैज्ञानिक सलाहकार जो, प्रवर्तित किया गया है अंतरराष्‍ट्रीय एटॉमिक ऊर्जा एजेंसी (आईएईए), विएन्‍ना, ऑस्‍टरिया द्वारा, प्रखर पल्‍मोनरी एम्‍बोलिज्‍म के लिए प्रबंधन कौशल के मूल्‍यांकन पर 2004 – 2008

·         भारत के टीबी नियंत्रण में मेडिकल कॉलेजों को शामिल करने पर राष्‍ट्रीय कार्यबल, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार 2011 से

 

समन्‍वयकर्ता

·         आईएमपीएसीटी (तपेदिक के विरुद्ध भारतीय चिकित्‍सा व्‍यावसायिक संस्‍था के सम्‍मेलन) का समन्‍वयकर्ता भारत के चिकित्‍सकों की संस्‍था (एपीआई) की ओर से तपेदिक के विरुद्ध संयुक्‍त रूप से लड़ने के लिए 2008 से 5 वर्ष की अवधि के लिए एक संयुक्‍त योजना बनाते हैं।

 

विशेषज्ञ सदस्‍य

स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार

·         तपेदिक प्रबंधन के लिए राष्‍ट्रीय दिशानिर्देश बनाने के लिए समिति 1997

·         एचआईवी / एआईडीएस के नैदानिक प्रबंध और एंटीरेट्रोविरल थेरेपी पर राष्‍ट्रीय परामर्श / राष्‍ट्रीय एआईडीएस नियंत्रण व्‍यवस्‍था (एनएसीओ), स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार 2003

·         ब्रॉन्कियल अस्‍थमा पर कृत्‍य बल के लिए विशेषज्ञ, आयुर्वेद तथा सिद्ध खोज के लिए केंद्रीय परिषद् (सीसीआरएएस), स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्‍ली, 2004

·         एंटिरोट्रावायरल (एआरटी) के स्‍केलिंग अप पर राष्‍ट्रीय परामर्श, एनएसीओ, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार। 2004

·         एमडीआर – टीबी के लिए डॉट्स प्‍लस का पालन, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय (भारत सरकार) 2005

·         विश्‍व बैंक के फ़ेज 2 की समिति ने संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम में सहायता की स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार 2004

·         पक्ष 2 संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय (भारत सरकार), नई दिल्‍ली 2005

·         संयुक्‍त एचआईवी – टीबी प्रशिक्षण कार्यक्रम विकसित करने के लिए राष्‍ट्रीय परामर्श, राष्‍ट्रीय एआईडीएस नियंत्रण संस्‍था द्वारा आयोजित, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, डब्‍ल्‍यूएचओ (एसईएआरओ) तथा केंद्रीय टीबी विभाग के सहयोग के साथ, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्‍ली 2005

·         टीबी तथा श्‍वसन रोगों की एलआरएस संस्‍था का नियंत्रण निकाय (स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत स्‍वायत्त संस्‍था) 2006 से अब तक

·         आरएनटीसीपी के लिए न्‍यू डायग्‍नोस्टिक्‍स तथा एल्‍गोरिथज्‍़म पर चर्चा, नई दिल्‍ली, सितंबर 2012

·         गैर सरकारी सदस्‍य (टीबी और वक्ष रोगों, चिकित्‍सा विज्ञानों तथा शिक्षा की फ़ाइल में), टीबी तथा श्‍वसन रोगों की एलआरएस संस्‍था के सरकारी निकाय में 8 जनवरी 2013 से 3 वर्ष के लिए

·         ''भारत में नई टीबी – विरोधी औषधियों का निर्धारण'' पर विशेषज्ञ समिति, केंद्रीय टीबी मंडल, महानिदेशक स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय भारत सरकार, फरवरी 2013 से

·         समिति जांच करेगी ''औषधि प्रवृत्ति का मामला जिसका प्रयोग संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत होना चाहिए'' स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार जुलाई 2013 से

·         सदस्‍य, डायग्‍नोस्टिक एलगोरिथम के लिए उप समिति, संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत'', स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, 2013

·         ''मलेरिया डायग्‍नोस्टिक और कीमोथेरेपी तथा देश में मलेरिया विलोपन की संभावनाएं'' पर विशेषज्ञ समिति, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, सितंबर 2014 से

 

 

पर्यावरण और वन मंत्रालय, भारत सरकार

·         पर्यावरण और वन मंत्रालय, भारत सरकार जून 2012 से 3 वर्ष के लिए 'परिवेशी स्‍वास्‍थ्‍य' पर कार्यकारी समूह

 

औषधि महा नियंत्रक (भारत), स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार

·         कीमोथेरेपी पर बैठक मलेरिया की औषधि नीति की समीक्षा के लिए राष्‍ट्रीय वाहक जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम, स्‍वास्‍थ्‍य सेवा महानिदेशक, 2005 से

·         मलेरिया की कीमोथेरेपी पर बैठक राष्‍ट्रीय वाहक जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम पर, शामनाथ मार्ग, दिल्‍ली 30 सितंबर 2006 को

·         विशेषज्ञ सदस्‍य, औषधि महानियंत्रक (भारत) (डीसीजी (1)) अनुसंधान्‍य नई औषधियों (आईएनडी) के लिए नैदानिक प्रयासों के नियमित अनुमोदन से संबंधित मामलों में 2008 से

·         विशेषज्ञ सदस्‍य, औषधि तकनीकी सलाहकार बोर्ड (डीटीएबी) केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संस्‍था द्वारा निर्धारित, स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं का महानिदेशक, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, कुछ ऐसी औषधियों की सतत बिक्री जानने के लिए जो अन्‍य देशों में प्रतिबंधित या निषिद्ध हों, 2010 से

·         नई औषधि सलाहकार समिति (एनडीएसी) का विशेषज्ञ सदस्‍य – औषधि महानियंत्रक (भारत) (डीसीजी (1)) गेस्‍ट्रोएंट्रोलॉजी और हेपेटॉलोजी में नई औषधियों तथा क्लिनिकल प्रयासों के प्रयोग की समीक्षा के मामलों में परामर्श देने के लिए 2011 से

·         नई औषधि सलाहकार समिति (एनडीएसी) का विशेषज्ञ सदस्‍य – औषधि महानियंत्रक (भारत) [(डीसीजी (1)} को एंटीमाइक्रोबियल, एंटीपैरासिटिक और एंटीफंगल नई औषधियों के परामर्श के लिए तथा क्लिनिकल प्रयासों के प्रयोगों की समीक्षा के लिए मामलों में 2011 से ‍

 

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था

·         डेंगू महामारी पर 1996 में क्षेत्रीय निदेशक डब्‍ल्‍यूएचओ (एसईएआरओ) की अस्‍थायी सलाहकार तकनीकी समिति की बैठक

·         ग्‍लोबल ट्यूबरकुलोसिस नियंत्रण पर डब्‍ल्‍यूएचओ कार्यशाला पर महानिदेशक डब्‍ल्‍यूएचओ (जेनेवा) का अस्‍थायी सलाहकार, पब्लिक हेल्‍थ, बोस्‍टन, यूएसए के बोस्‍टन विश्‍व विद्यालय स्‍कूलों द्वारा 1998 में आयोजित।

·         विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था का अंतरराष्‍ट्रीय टीबी कार्यकारी समूह, (एसईएआरओ), पहली बैठक 2002 के दौरान बैंकॉक, थाईलैण्‍ड में आयोजित।

·         क्षेत्रीय निदेशक डब्‍ल्‍यूएचओ (एसईएआरओ) को अस्‍थायी सलाहकार, डब्‍ल्‍यूएचओ कार्यशाला पर साधन निरुद्ध देशों में एंटिरेट्रोवायरल थेरेपी के प्रयोग पर अनौपचारिक परामर्श, नई दिल्‍ली, 2002

·         संयुक्‍त निगरानी मिशन (विश्‍व बैंक, विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था, जेनेवा, टीबी तथा अन्‍य फेफड़ा रोगों के विरुद्ध अंतरराष्‍ट्रीय यूनियन (आईयूएटीएलडी), विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍थता एसईएआरओ, केंद्रीय टीबी विभाग (सीटीडी), स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार) भारत के संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम (आरएनटीसीपी), 2003 मूल्‍यांकन के लिए

·         संयुक्‍त निगरानी मिशन (विश्‍व बैंक, विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था, जेनेवा; टी बी तथा अन्‍य फेफड़ा रोगों के विरुद्ध अंतरराष्‍ट्रीय यूनियन (आईयूएटीएलडी), विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था (एसईएआरओ), केंद्रीय टीबी विभाग (सीटीडी), स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार) भारत के संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम (आरएनटीसीपी) मूल्‍यांकन के लिए, 2006

·         संयुक्‍त निगरानी मिशन (विश्‍व बैंक, विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था, जेनेवा; टी बी तथा अन्‍य फेफड़ा रोगों के विरुद्ध अंतरराष्‍ट्रीय यूनियन (आईयूएटीएलडी), विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था (एसईएआरओ), केंद्रीय टीबी विभाग (सीटीडी), स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार) भारत के संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम (आरएनटीसीपी) मूल्‍यांकन के लिए, 2009

·         उष्‍णकटिबंधी रोगों में विशेषज्ञता के केंद्रों की क्षेत्रीय बैठक के लिए अस्‍थायी सलाहकार डब्‍ल्‍यूएचओ एसईएआरओ द्वारा आयोजित फरीदाबाद, नवंबर 2011 में रखी गई

·         राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम प्रबंधकों और भागीदारों पर बैठक, 2011 डब्‍ल्‍यूएचओ एसईएआरओ द्वारा बैंकॉक, थाईलैण्‍ड में आयोजित, दिसंबर 2011

·         संयुक्‍त निगरानी मिशन (विश्‍व बैंक, विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था, जेनेवा; टीबी तथा अन्‍य फेफड़ा रोगों के विरुद्ध अंतरराष्‍ट्रीय यूनियन (आईयूएटीएलडी), विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था एसईएआरओ, केंद्रीय टीबी विभाग (सीटीडी), स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार) भारत के संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम (आरएनटीसीपी) मूल्‍यांकन के लिए, 2012

·         टीबी समापन की 2015 से बाद की योजना के लिए अंतनिर्हित टीबी संक्रमण पर डब्‍ल्‍यूएचओ कार्यशील समूह का विशेषज्ञ सदस्‍य, 2014

·         राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम प्रबंधकों तथा भागीदारों की क्षेत्रीय बैठक, नई दिल्‍ली, नवंबर 2014

·         दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र, जयपुर में सह रोगों को संबोधित करने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य तंत्रों को दृढ़ बनाने पर क्षेत्रीय बैठक, नवंबर 2014

 

वैश्विक दमा नेटवर्क

·         सदस्य, ग्लोबल दमा नेटवर्क, 2013 से

 

चिकित्‍सा अनुसंधान की भारतीय परिषद्

·         चिरकालिक श्‍वसन रोगों (श्‍वसन दमा तथा सीओपीडी) के उपचार के लिए दिशा निर्देश तैयार करने हेतु विशेषज्ञ समूह, राष्‍ट्रीय पर्यावरवरणीय स्‍वास्‍थ्‍य अनुसंधान संस्‍था, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद्, भोपाल, सितंबर 2012

·         न्‍यूट्रिशन विभाग, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद्, नई दिल्‍ली को ऑनलाइन प्रस्‍तुत प्रस्‍तावों के मूल्‍यांकन के लिए विशेषज्ञ सितंबर 2012 से

·         सदस्‍य, इंट्राम्‍यूरल तथा एक्‍स्‍ट्राम्‍यूरल अनुसंधान परियोजनाओं की समीक्षा करने तथा अंतिम रूप देने के लिए समिति पर्यावरणी स्‍वास्‍थ्‍य में अनुसंधान के लिए राष्‍ट्रीय संस्‍था (एनआईआरईएच), एनआईआरईएच / परिषद् द्वारा प्राप्‍त, 2012

·         ''दि बैनर्जी प्रोटोकोल्‍ज़'' नामक पुस्‍तक से संबंधित सामग्री पर चर्चा के लिए विशेषज्ञ समूह, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद्, नई दिल्‍ली, अप्रैल 2013

·         फारमेको एपिडरमिनोलॉजी में नेटवर्किंग पर विशेषज्ञ समूह, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद्, नई दिल्‍ली, 2013-14

·         प्री – एसएसी समीक्षा बैठक, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् भुवनेश्‍वर, अक्‍तूबर 2014

 


 

अनुसंधान समितियां

अनुसंधान परियोजना समन्‍वयक

·         परियोजना का समन्‍वयक, ''इम्‍यूनोमॉडुलेटर की दक्षता तथा सुरक्षा (माइक्रोबैक्‍टीरियम डब्‍ल्‍यू) कोटि 2 फुफ्फुसीय ट्यूबरकुलोसिस रोगियों में एक सहायक चिकित्‍सा के रूप में, इम्‍यूनोलॉजिकल अन्‍वेषणों के साथ, एक बहु केंद्रीय नैदानिक प्रयास अध्‍ययन, जैव प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार और कैडिला फार्मास्‍युटिकल्‍ज़ लि. द्वारा निधिकृत 2004 से (एनसीटी 00265226)

·         परियोजना का समन्‍वयक, ''इम्‍यूनोमॉडुलेटर की दक्षता तथा सुरक्षा (माइक्रोबैक्‍टीरियम डब्‍ल्‍यू) कोटि 1 फुफ्फुसीय ट्यूबरकुलोसिस रोगियों की एक सहायक चिकित्‍सा के रूप में, इम्‍यूनोलॉजिकल अन्‍वेषणों के साथ, एक बहु केंद्रीय नैदानिक प्रयास अध्‍ययन, जैव प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार और कैडिला फार्मास्‍युटिकल्‍ज़ लि. द्वारा निधिकृत 2006 से (एनसीटी 00341328)

 

सदस्‍य, वैज्ञानिक सलाहकार समितियां

·         ''भोपाल गैस त्रासदी के लिए ब्रांकियोएलविओलर लेवेज'' पर परियोजना सलाहकार समिति अनुसंधान परियोजना, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर) 1989-90

·         भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् से अनुसंधान प्रस्‍तावों की समीक्षा के लिए सदस्‍य विशेषज्ञ, नई दिल्‍ली 1999 से

·         वैज्ञानिक सलाहकार समिति, डेज़र्ट औषधि अनुसंधान केंद्र (डीएमआरसी), जोधपुर, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद्, 2002 और 2003

·         अनुसंधान क्षेत्र पैनल – वैज्ञानिक सलाहकार समिति (आरएपी – एसएसी), डीएनए फिंगरप्रिंटिंग और डायग्‍नोस्टिक्‍स के लिए केंद्र (सीडीएफडी), हैदराबाद, 2003

·         सलाहकारों का अनुसंधान बोर्ड, अमेरिकी बायोग्राफिकल संस्‍थान, आईएनसी, 2003

·         सदस्‍य, वैज्ञानिक सलाहकार समूह, एपिडेमियोलॉजी और संक्रामिक रोगों का विभाजन, भारतीय चिकित्‍सा परिषद्, नई दिल्‍ली, 2004 से अब तक

·         अनुसंधान परिषद् जिनॉमिक्‍स और सकालनात्‍मक जीव विज्ञान की संस्‍था आईजीआईबी, दिल्‍ली विश्‍व विद्यालय, 2004 – 05

·         केंद्रीय जेएएलएमए संस्‍था पर कुष्‍ठ तथा अन्‍य माइक्रोबेक्‍टीरियल रोगों के लिए घाटमपुर युनिट के कार्यबलों की समीक्षा के लिए कृत्‍य बल, 2005 से अब तक

·         विश्‍व फेफड़ा स्‍वास्‍थ्‍य (ट्यूबरकुलोसिस और फेफड़ा रोग के विरुद्ध अंतरराष्‍ट्रीय यूनियन का उपक्रम (आईयूएटीएलडी) 2005)

·         ट्यूबरकुलोसिस जैव प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार पर कृत्‍य बल, 2006 – 2007 से

·         ''रोगियों तथा उनके परिवारों पर टीबी का सामाजिक आर्थिक प्रभाव'' की प्रगति की समीक्षा के लिए तकनीकी सलाहकार समिति बैठक, तकनीकी आर्थिक अनुसंधान संस्‍थान (टीईआरआई) द्वारा आयोजित 2006

·         ट्यूबरकुलोसिस पर कृत्‍य बल, जैव प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार 2007 – 2010 से

·         ''धान तथा टीबी में बायोइनफार्मेटिक्‍स'' शीर्षक से दो महत्‍वपूर्ण परियोजनाओं पर चर्चा के लिए महत्‍वपूर्ण बैठक, नीतियां तय करने के लिए, जैव प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार में क्रियान्‍वयन के लिए 2007

·         आईसीएमआर तथा मिन्‍नेसोटा विश्‍वविद्यालय यूएसए की संयुक्‍त विषय निर्वाचन समिति बैठक, 2007-2008

·         विषय निर्वाचन समिति, पेरिकार्डिटिस के प्रबंधन का अन्‍वेषण (आईएमपीआई), कनाडा 2008 से आज तक

·         ट्यूबरकुलोसिस और एचपीवी वैक्‍सीन विकास समूह बैठक नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ इम्‍युनोलॉजी में 2008

·         सदस्‍य, अनुसंधान क्षेत्र पैनल्‍ज़ / वैज्ञानिक सलाहकार समिति (आरएपी/एसएसी) की वार्षिक बैठक, राष्‍ट्रीय प्रतिरक्षा विज्ञान संस्‍थान (एनआईआई) 2009

·         ट्यूबरकुलोसिस पर विशेषज्ञ समिति, जैव प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार 2010 (तीन वर्ष की अवधि के लिए मई 2010 से)

·         विशेषज्ञ सदस्‍य, एजेडडी – 5847 की समीक्षा के लिए ओएसडीडी बैठक, वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान की परिषद् (सीएसआईआर) में आयोजित बैठक में, अनुसंधान भवन, नई दिल्‍ली, 2011

·         विशेषज्ञ सदस्‍य, वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद् (सीएसआईआर) पर आयोजित एज़ेंसी बैठक, अनुसंधान भवन, नई दिल्‍ली, 2011

·         अध्‍यक्ष, परियोजना समीक्षा समिति (पीआरसी), ''अभिनव उत्‍पादन विकास और निर्माण प्रक्रिया तीन महत्‍वपूर्ण ओनकोलॉजी थेराप्‍यूटिक रिकम्बिनेन्‍ट प्रोटींस के लिए जीसीएसएफ, आईएफएन एल्‍फ़ा 1 बी और एल एसपाराजिनेस'', 2012

·         राष्‍ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी), स्‍वास्‍थ्‍य सेवा महानिदेशक, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, सितंबर 2012 से

 

·         चिकित्‍सा शिक्षा और अनुसंधान को पोस्‍टग्रेजुएट संस्‍था (पीजीआईएमईआर), चण्‍डीगढ़ 2014 में किए जा रहे अनुसंधान की चिकित्‍सा और वैज्ञानिक लेखा परीक्षा की समीक्षा

 

संकाय, विशेषज्ञों तथा अन्‍य कर्मचारियों के चुनाव के लिए विशेषज्ञ

·         सम विश्‍व विद्यालय प्रस्‍ताव के लिए निरीक्षण समिति, सेंट जॉन राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य विज्ञान की  अकादमी, बेंगलुर 1995

·         बायोटेक्‍नोलॉजी ओवरसीज़ एसोसिएटशिप के पुरस्‍कार के लिए स्‍क्रीनिंग समिति 'बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार) 1995 – 96

·         कोल इंडिया लिमिटेड की प्रवर समिति, वरिष्‍ठ चिकित्‍सा अधिकारियों और प्रमुख चिकित्‍सा अधिकारियों के चुनाव के लिए 1995-96

·         गैस एथॉरिटी ऑफ़ इण्डिया लिमिटेड (जीएआईएल) की प्रवर समिति, वरिष्‍ठ चिकित्‍सा अधिकारियों और प्रमुख चिकित्‍सा अधिकारियों के चुनाव के लिए 1996

·         चयन समिति का विशेषज्ञ सदस्‍य, कॉमनवेल्‍थ स्‍कॉलरशिप / फेलोशिप प्‍लान के लिए 1998, एचआरडी मंत्रालय

·         चयन समिति का विशेषज्ञ सदस्‍य, चिकित्‍सा विज्ञानों की बी. पी. कोइराला संस्‍था पर संकाय पदों के चुनाव के लिए, धरण, नेपाल 2000

·         संघ लोक सेवा आयोग, भारत सरकार, केंद्रीय सरकार स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं के अंतर्गत जनरल ड्यूटी चिकित्‍सा  अधिकारियों, चिकित्‍सा विकित्‍सा ,  ॉजी स  शेषज्ञों, विभिन्‍न चिकित्‍सा कॉलेजों के सहायक प्रोफेसरों के चुनाव के लिए 2000 से

·         बायोटेक्‍नोलॉजी ओवरसीज़ एसोसिएटशिप के पुरस्‍कार के लिए स्‍क्रीनिंग समिति (बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार) 2000

·         व्‍यक्तित्‍व परीक्षण बोर्ड (पी. टी. बोर्ड) की सहायता के लिए सलाहकार, संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी), भारत सरकार में, उन प्रत्‍याशियों की मध्‍यस्‍थता के लिए जो संयुक्‍त चिकित्‍सा सेवा परीक्षा (2002) 2003 में सफल रहे हैं

·         वैज्ञानिकों के चयन के लिए कोर समिति, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद्, नई दिल्‍ली 2003

·         संकाय सदस्‍यों की पदोन्‍नति के लिए चयन समिति, दिल्‍ली विश्‍व विद्यालय 2005

·         टीबी और श्‍वसन रोगों की एलआरएस संस्‍था के शासी निकाय की चयन समि‍ति बैठक, निदेशक के पद के लिए पात्रता शर्तों की चर्चा के लिए, टीबी और श्‍वसन रोगों की एलआरएस संस्‍था (स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार) 2006

·         पीजीआईएमईआर में अतिरिक्‍त प्रोफेसर के पद के लिए चयन हेतु स्‍थायी चयन समिति, चंडीगढ़ 2006

·         पीजीआई, रोहतक पर हरियाणा भवन में औषधि में प्रोफेसरों के पद के लिए चयन समिति 2006

·         प्रोफेसरों, सह प्रोफेसरों और सहायक प्रोफेसरों के पदों के लिए चयन समिति चिकित्‍सा में, चिकित्‍सा शिक्षा और अनुसंधान को पोस्‍ट ग्रेजुएट संस्‍था में (पीजीआईएमईआर), चंडीगढ़ 2007

·         टीबी और श्‍वसन रोगों की एलआरएस संस्‍था पर पल्‍मोनरी चिकित्‍सा में डीएनबी कोर्स में निवासियों के लिए चयन समिति (स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार) 2007 से अब तक

·         दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय के अंतर्गत वी पी चेस्‍ट इंस्‍टीट्यूट में श्‍वसन औषधि में प्रोफेसर के पद के लिए चयन समिति 2008

·         औषधि यूनिवर्सिटी कॉलेज में श्‍वसन रोगों में व्‍याख्‍याता के पद के लिए चयन समिति, शाहदरा, दिल्‍ली 2008

·         कॉमनवेल्‍थ स्‍कॉलरशिप / फेलोशिप प्‍लान के लिए चयन समिति 2008, एचआरडी मंत्रालय

·         विश्‍वविद्यालय का पहला अध्‍यादेश, बीओएस चिकित्‍सक विज्ञानों में पीजी/यूजी/बी.एससी नर्सिंग या बी.एससी पैदा चिकित्‍सक प्रौद्योगिकी में, हिमाचल प्रदेश विश्‍व विद्यालय 2008 से अब तक

·         पद के लिए चयन समिति अपर डीजी से उप डीजी और उप डीजी से वरिष्‍ठ उप डीजी; अनुसंधान अधिकारी से वरिष्‍ठ अनुसंधान अधिकारी और वरिष्‍ठ अनुसंधान अधिकारी से अपर महा निदेशक आईसीएमआर पर, नई दिल्‍ली 2009

·         श्‍वसन औषधि में डीएनबी कोर्स के लिए प्रवेश हेतु चयन समिति, टीबी और श्‍वसन रोगों के एलआरएस संस्‍थान (स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार), नई दिल्‍ली 2009

·         आईसीएमआर पुरस्‍कारों के लिए चयन प्रक्रिया, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद्, नई दिल्‍ली 2009

·         औषधि विभाग में लेक्‍चरर / सहायक प्रोफेसर के रूप में नियुक्ति के लिए चयन समिति, छत्रपति शिवाजी महाराज चिकित्‍सा विश्‍व विद्यालय यूपी, लखनऊ 2010

·         चयन समिति का विषय – युनाइटिड किंगडम की सरकार द्वारा प्रस्‍तुत कॉमनवेल्‍थ स्‍कॉलरशिप / फेलोशिप प्‍लान 2011 के पुरस्‍कार के लिए चयन के उम्‍मीदवारों के लिए औषधि का क्षेत्र, एचआरडी मंत्रालय, नई दिल्‍ली 2010

·         सामान्‍य औषधि के विभाग के लिए निग्रिहिम्‍स में समूह 'ए' संकाय पदों के लिए स्‍थायी चयन समिति, 2011

·         संकाय पदों के लिए स्‍थायी चयन समिति, आंतरिक औषधि विभाग पीजीआईएमईआर चंडीगढ़ पर, 2011

·         सहायक प्रोफेसर (फुफ्फुसीय औषधि) के पद के लिए चयन समिति, यकृत और बिलियरी विज्ञान संस्‍था, नई दिल्‍ली, 2011

·         नई दिल्‍ली टीबी केंद्र के निदेशक के पद के लिए चयन समिति, नई दिल्‍ली, 2011

·         राष्‍ट्रीय प्रतिरक्षा विज्ञान  संस्‍थान के लिए अल्‍पकालीन चिकित्‍सा अधिकारी के पद के लिए चयन समिति, नई दिल्‍ली, 2011

·         विशेषज्ञ ग्रेड 2 के पद के लिए चयन समिति, टीबी और श्‍वसन रोगों की एलआरएस संस्‍था (स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार), नई दिल्‍ली, 2011

·         वरिष्‍ठ रेजीडेंट के चुनाव के लिए चयन समिति आईसीएमआर के अंतर्गत भोपाल मेमोरियल रिसर्च हॉस्पिटल, भोपाल, सितंबर 2012 से

·         संकाय पदों के लिए चयन समिति, चिकित्‍सा विज्ञान और अनुसंधान सेंटेनरी हॉस्पिटल, जामिया हमदर्द, नई दिल्‍ली - 110062

 

चिकित्‍सा बोर्ड

·         निर्योगिता वाले अभ्‍यर्थियों के लिए विशेष चिकित्‍सा बोर्ड, संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा 2010 उत्तीर्ण करने वाले, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान, आईआईटी हॉस्पिटल, नई दिल्‍ली, जून 2010

·         निर्योगिता वाले अभ्‍यर्थियों के लिए विशेष चिकित्‍सा बोर्ड, संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा 2011 उत्तीर्ण करने वाले, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान, आईआईटी हॉस्पिटल, नई दिल्‍ली, जून 2011

·         निर्योगिता वाले अभ्‍यर्थियों के लिए विशेष चिकित्‍सा बोर्ड, संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा 2011 उत्तीर्ण करने वाले, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान, आईआईटी हॉस्पिटल, नई दिल्‍ली, जून 2012

 

एमसीक्‍यूएस प्रतिवादित करने के लिए विशेषज्ञ सदस्‍य

·         परीक्षाओं का राष्‍ट्रीय बोर्ड (भारत) प्राथमिक परीक्षा के लिए अनेक प्रकार प्रकार के प्रश्‍नों के संवादन के लिए 1989 – 92

·         भारतीय प्रशासनिक सेवाओं के लिए, एचपी विश्‍व विद्यालय, 2010

·         भारतीय प्रशासनिक सेवाओं के लिए, एचपी विश्‍वविद्यालय, 2011

·         हिमाचल प्रशासनिक सेवाओं के लिए, एचपी विश्‍वविद्यालय, 2012

 

पाठ्यक्रम प्रतिवादित करने के लिए विशेषज्ञ सदस्‍य

·         एमडी (औषधि) का स्‍नातकोत्तर पाठ्यक्रम बनाने के लिए सदस्‍य – चिकित्‍सा विज्ञानों का बीपी कोइराला संस्‍थान, धरण, नेपाल 1998

·         अध्‍यक्ष, भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् द्वारा स्‍थापित विशेषज्ञता का बोर्ड, पल्‍मोनरी औषधि और ट्रॉपिकल औषधि की विशेषज्ञता में एमडी तथा डिप्‍लोमा पाठ्यक्रमों के लिए क्‍यूरिकुलम की ड्राफ्टिंग / अपडेटिंग के लिए, 2008

·         अध्‍यक्ष, पल्मोनरी  चिकित्‍सा में विशेषज्ञता बोर्ड, पल्मोनरी  औषधि की विशेषज्ञता में एमडी तथा डिप्‍लोमा कोर्सों के लिए पाठ्यक्रम को बनाने / अद्यतन करने के लिए भारतीय चिकित्‍सा परिषद् द्वारा स्‍थापित अक्‍तूबर 2010 से

 

अध्‍ययन के बोर्ड के लिए सदस्‍य

·         सदस्‍य, सामान्‍य औषधि में अध्‍ययन का बोर्ड, बनारस हिंदु विश्‍व विद्यालय दो वर्ष की अवधि के लिए 3.1.2012

 

वैज्ञानिक सम्‍मेलनों की समितियां

·         सदस्‍य, वैज्ञानिक समिति, ऐपिकॉन 2007

·         सदस्‍य वैज्ञानिक समिति ऐपिकॉन 2009

·         सदस्‍य, राष्‍ट्रीय सलाहकार समिति, दक्षिण एशिया एलर्जी, दमा और क्लिनिकल इम्‍युनोलॉ‍जी

·         एसोसिएशन (एसएएएएसीआई-2011), का पहला सम्‍मेलन, वीपी चेस्‍ट संस्‍था दिल्‍ली विश्‍व विद्यालय, अक्‍तूबर 2010

·         सदस्‍य, वैज्ञानिक समिति, एनएपीसीओएन 2011

 

विभाग में प्रयोगशालाओं की स्‍थापना निम्‍न प्रयोगशालाएं स्‍थापित की गईं

·         एडीनोसीन डीएमिनेस (एडीए) अनुमान ट्यूबरकुलोसिस पल्‍यूरल एफ़ुसिअन के लिए एम्‍स हॉस्पिटल, नई दिल्‍ली में। यह प्रयोगशाला भीतरी और बाहरी रोगियों के लिए हॉस्पिटल की सेवा उपलब्‍ध कराती रही है और पल्‍यूरल एफ़्यूजन, एसाइट्स और मेनिनजाइंटिस के साथ, 1996 से।

·         पॉलिसोमनोग्राफीज़ के लिए निद्रा प्रयोगशाला (पीएसजीएस) एम्‍स हॉस्पिटल, नई दिल्‍ली में। यह प्रयोगशाला 1998 से इनडोर तथा आउटडोर रोगियों को हॉस्पिटल सेवा उपलब्‍ध करा रही है। रुकावटपूर्ण स्‍लीप एप्‍नीया पर प्रकाशनों की गुणवत्ता से इस प्रयोगशाला के निष्‍पादन का आकलन किया जा सकता है।

·         एम्‍बुलेटरी ब्‍लड प्रेशर निगरानी सुविधा स्‍थापित की।

·         सीरम एन्जिओटेंशन कनवर्टिंग एंजाइम (एसएसीई) सरकोइडोसिस के निदान के लिए अनुमान 2004 से, एम्‍स हॉस्पिटल, नई दिल्‍ली में।

·         फ़ाइब्रिऑप्टिक ब्रोंकोस्‍कोपी लैब

यह सुविधा 1978 से चल रही है। ब्रोंकोस्‍कोपी प्रक्रियाओं के लिए अतिरिक्‍त महत्‍वपूर्ण उपकरण। एक वर्ष में लगभग 750 ब्रोंकोस्‍कोपियां निष्‍पादित की जाती हैं।

 

·         पल्‍मोनरी कार्य प्रयोगशाला

यह प्रयोगशाला आधुनिकतम उपस्‍कर की स्थिति से रज्जित है। यह विभाग के प्रकाशनों द्वारा प्रमाणित है। फेफड़ा आयतनों का माप, स्‍पाइरोमीट्री, पल्‍मोनरी विकीर्णन क्षमता, एयरवे प्रतिरोध, विशिष्‍ट एअरवे चालकत्‍व और ऑक्‍सीजन संतृप्ति नित्‍यक्रम से मापे जाते हैं। अभ्‍यास के दौरान विभिन्‍न कार्डियो पल्‍मोनरी प्रक्रियाओं को मापने के लिए सुविधाएं लैब में उपलब्‍ध हैं।

 

·         बायो सुरक्षा स्‍तर 3 प्रयोगशाला (बीएसएल – 3)

औषधि के विभाग में एक बीएसएल – 3 प्रयोगशाला (एम एण्‍ड डब्‍ल्‍यू जेंडर) स्‍थापित की तपेदिक और एचआईवी रोगियों के सांसर्गिक नमूने संभालने के लिए। यह अक्‍तूबर 2009 में सौंपा गया था। इस प्रयोगशाला का उपयोग विभिन्‍न डायगनोस्टिक परीक्षणों के लिए किया जाता है और अनुसंधान उद्देश्‍यों के लिए यथा इंटरफे़रोन गामा रिलीज़ ऐस्‍से (आईजीआरए), एलपीए तथा सेल्‍स कल्‍चर के लिए स्‍पूटम से डीएनए वियोजन। यह प्रयोगशाला पीएचडी तथा एमडी छात्रों द्वारा प्रयोग की जा रही है।

 

·         डीएनए सीक्‍वैंसर

एप्‍लाइड बायोसिस्‍टम से 3130 xl जेनेटिक एनालाइज़र (16 कैपिलरी डीएनए सीक्‍वेंसर) मई 2010 में औषधि विभाग में स्‍थापित किया गया था। इस उपस्‍कर का उपयोग विभिन्‍न जीन प्रेगमेंटों की रिस्‍टरिक्‍शन फ्रगर्मेंट लेंथ पोलिमॉर्फिज्‍़म (आरएफएलपी) की पुष्टि में किया जाता है। इसका प्रयोग निकट भविष्‍य में एचआईवी ड्रग रिजि़स्‍ट्रेंस और एमडीआर ट्यूबरकुलोसिस स्‍ट्रेन की पुष्टि के लिए भी किया जाएगा। इन परीक्षणों का मानकीकरण चल रहा है।

 

·         फ्लो साइटोमीटर 

13 – कलर (9 – कलर + 4 बेसिक) तीन लेज़रों के साथ (नीला – 488 एनएम, लाल – 633 एनएम और नियर – यूवी – 375 एनएम) प्रवाह साइटोमीटर (एफ़एसीएस एआरआईए – 3) बीडी बायोसाइंसिस से नवंबर 2010 में औषधि के विभाग में स्‍थापित की गई थी। इस मशीन का उपयोग सीडी4 काउंट में और अनेक संक्रामक रोगों, रुकावटपूर्ण स्‍लीप ए‍प्नीया और विभिन्‍न कार्डियोवेस्‍कुलर विकारों के लिए अनुसंधान के उद्देश्‍य से किया जा रहा है।

 

·         एम्‍स, नई दिल्‍ली में चिकित्‍सा विभाग में इंटरमीडिएट रेफ़रेंस लेबॉरेटरी (आईआरएल) की स्‍थापना ।

आईआरएल की स्‍थापना माइक्रोबैक्‍टीरियल संवर्धन और औषधि संवेदनशीलता की जांच के लिए की गई है। इससे ट्यूबरकुलोसिस के शीघ्र निदान की सुविधा होगी विशेषत: एमडीआर – टीबी। यह हमें अधिक टीबी डायग्‍नोस्टिक सेवाओं, प्रशिक्षण उपलब्‍ध कराने और आरएनटीसीपी की गुणवत्ता आश्‍वासन प्रक्रिया के साथ शामिल होने में भी मदद करेगा।

 

·         लाइन प्रोब ऐस्‍से (एलपीए)

इन्‍नोवेटिव और अभिनव डायग्‍नोस्टिक्‍स की स्‍थापना (एफआईएनडी), जेनेवा की मदद से एमडीआर – टीबी के शीघ्र निदान के लिए यह मॉलिकुलर लैब स्‍थापित की गई। लैब को राष्‍ट्रीय मान्‍यता प्राप्‍त है।  

 

·         औषधि प्रवणता परीक्षण (डीएसटी)

एम्‍स के औषधि विभाग में डीएसटी लैब की स्‍थापना (एलाइजा विधि का प्रयोग करके) यह प्रयोगशाला एमडीआर – टीबी के निदान के लिए सॉलिड कल्‍चर का प्रयोग करती है। लैब को राष्‍ट्रीय मान्‍यता प्राप्‍त है।

 

·         माइकोबैक्‍टीरिया ग्रोथ इंडिकेटर ट्यूब (एमजीआईटी)

मेरे दिशा निर्देश में औषधि विभाग में एमडीआर – टीबी के निदान के लिए एमजीआईटी प्रयोग करने वाला तरल कल्‍चर स्‍थापित किया जा रहा है। अभिनव और नूतन डायग्‍नोस्टिक्‍स का आधार (एफआईएनडी), जेनेवा उपस्‍कर तथा उपभोज्‍य उपलब्‍ध करा रहा है।

 

·         एमडीआर टीबी के लिए एक सरोगेट मार्कर के रूप में रिफ़ेम्पिसिन प्रतिरोध के लिए जीनक्‍सपर्ट सुविधा

 

·         स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा एक्‍सट्रा पल्‍मोनरी टीबी (ईपीटीबी) के लिए उत्कृष्टता केंद्र

 

 

एम्स, नई दिल्‍ली में रोगियों की रक्षा सेवाओं की स्‍थापना

 

i)      डॉट्स केंद्र – यह केंद्र 1998 में स्‍थापित किया गया था। तब से यह आरएनटीसीपी दिशानिर्देशों के अनुसार टीबी रोगियों के निरुपण तथा उपचार के लिए नि:शुल्‍क सेवा उपलब्‍ध करा रहा है।

 

ii)     डॉट्स – प्‍लस साइट : एम्स, नई दिल्‍ली का चिकित्‍सा विभाग एमडीआर टीबी रोगियों के निदान तथा उपचार के लिए डॉट्स प्‍लस साइट के रूप में निर्धारित किया गया है। विभाग के पास आईआरएल, लाईन प्रोब ऐस्‍से (एलपीए) और औषधि संवेदनशीलता परीक्षण (डीएसटी) के लिए बीएसएल 3 सुविधा है। 

 

iii)     समाकलित परामर्श उपचार केंद्र (आईसीटीसी) और एंटिरोट्रोवायरल उपचार (एआरटी) : एम्स, नई दिल्‍ली के आईसीटीसी और आर्ट क्लिनिक के उदारता पूर्वक योगदान यह 2005 से एचआईवी / एआईडीएस रोगियों को नि:शुल्‍क औषधि उपचार उपलब्‍ध करा रहा है।

 

iv)     संक्रामक रोग (आईडी) क्लिनिक : हॉस्पिटल में 2005 से साप्‍ताहिक आईडी क्लिनिक स्‍थापित किया गया। इस क्लिनिक में अवसरवादी संक्रमण (आईआईएस) वाले एचआईवी / एआईडीएस के रोगियों को देखा जाता है।

 

v)     निद्रा क्लिनिक : 2007 से निद्रा क्लिनिक स्‍थापित। यह निद्रा संबंधित श्‍वसन विकार से ग्रस्‍त रोगियों के लिए सप्‍ताह में एक बार रोगी के लिए सेवा उपलब्‍ध कराता है।

 

मेंटोरेड 118 एमडी, डीएम और पीएचडी छात्र

 

अन्‍वेषण अनुदान

 

1.    भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर), नई दिल्‍ली

     इंडिओपैथिक पल्‍मोनरी फ़ाइब्रोसिस (आईपीएफ़) और सरकोडिडोसिस और ग्‍लुकोकोर्डिकोइड रिसेप्‍टर्स (जीआर) पर प्रेडनिसोलोन उपचार के प्रभाव में ब्रांकिओएलवियोलर लेवेज फ्लुइंड (बीएएलएफ) में ग्‍लुकोकॉर्टीकॉइड रिसेप्‍टर्ज।

 

2.   भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर), नई दिल्‍ली

     बीएएल अध्‍ययन के लिए भोपाल गैस त्रासदी परियोजना

 

3.    भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर), नई दिल्‍ली

     ब्रांको एलविओलर लैवेज सैलों, पल्‍मोनरी क्रियाओं और सरकोइडोसिस में गैस विनिमय पर प्रिडनिसोलोन उपचार का प्रभाव।

 

4.    स्मिथकिलीन बीचम, भारत सीमित।

     निम्‍न श्‍वसन क्षेत्र संक्रमण में ऑमेन्टिन की दक्षता तथा सुरक्षा की पोस्‍ट मार्केट निगरानी  

 

5.    सर्वश्री रहोने – पूलेन्‍स, भारत सीमित।

     निम्‍न श्‍वसन क्षेत्र संक्रमण में स्‍पारफ़लोक्‍सासिन की दक्षता और सुरक्षा।

 

6.    भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर), नई दिल्‍ली

     तपेदिक में साइटोकिन मोचन

 

7.    भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर), नई दिल्‍ली

     तपेदिक में सुप्रारेनल्‍ज़ का क्रियात्‍मक और रूपात्‍मक मूल्‍यांकन

 

8.    सर्वश्री रैनबैक्‍सी अन्‍वेषण प्रयोगशाला लिमिटेड

     मल्‍टीड्रग प्रतिरोधी तपेदिक (एमडीआर – टीबी) में ऑफ्लोक्‍साकिन के अतिरिक्‍त उपचार की डबल बलाइंट, प्‍लासेबो – नियंत्रित परीक्षण का प्रभाव

 

 

9.   बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार

     ग्रैनुलोमैटस फेफड़ा रोग काइम्‍यूनोजेनेटिक्‍स विशिष्‍टत: तपेदिक और सार कोइडोसिस

 

10. सर्वश्री पफिज़र, भारत लिमिटेड।

     निम्‍न सुलबेक्‍टम ट्रैक्‍ट संक्रमण सेफ़ोदैराजोंन और सुलबेक्‍टम (मैगनेक्‍स) की क्षमता तथा सुरक्षा का मूल्‍यांकन

 

11. बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार

     माइको बैक्‍टीरियम ट्यूबरकुलोसिस के मल्‍डीड्रग रिजि़स्‍टेंट स्‍ट्रेंज़ का चरित्र – चित्रण एक मल्टिसेंटर परियोजना

    

12. विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (एसईएआरओ)

     एम्‍स, नई दिल्‍ली में मॉडल प्रशिक्षण और प्रदर्शन डॉट्स केंद्र की स्थापना।

 

13. बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार

     माइकोबैक्टीरियम क्षयरोग के सुचरित्रित नमूनों और तनाव का संग्रह और औषध रोधी तनावों के लिए मॉलीक्‍यूलर तकनीकों का विकास

 

14. बाल्‍यावस्‍था अस्‍थमा और एलर्जी अंतरराष्‍ट्रीय अध्‍ययन (आईएसएएसी) फेज तीन अध्‍ययन

     ऑकलैण्‍ड का विश्‍वविद्यालय, पीडियाट्रिक्‍स विभाग, चिकित्‍सा और स्‍वास्‍थ्‍य विज्ञानों की फेकल्‍टी, ऑकलैण्‍ड, न्‍यू जीलैण्‍ड और सिप्‍ला लिमिटेड (भारत)

 

15. क्विन्‍टाइल स्‍पेक्‍टरल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (फुजीसावा जीएमबीएच, जर्मनी)

     आक्रामक कैंडीडिआसिस और कैंडीडीमिया के उपचार में मिकाफंजिन का रेण्‍डोमाइज्‍ड तुलनात्‍मक, डबल बाइंड अध्‍ययन (एफ़के 463) बनाम लिपोसोमल एम्‍फोटोरिसिन बी (ऐम्‍बीसोम ®

 

16. क्विन्‍टाइल स्‍पेक्‍टरल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (फुजीसावा जीएमबीएच, जर्मनी)

     आक्रामक कैंडीडियासिस और कैंडीडीमिया के उपचार में मिकाफंजिम का रेडोमाइज्‍ड, तुलनात्‍मक, डबल बाइंड अध्‍ययन (एफके 463) बनाम लिपोसोमल एम्‍फोटेरिसिन बी (ऐम्‍बीसोम ®)

 

17. बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी की मंत्रालय, भारत सरकार : प्रमुख अन्‍वेषक और परियोजना समन्‍वयक

     ब्रांकियल अस्‍थमा के इम्‍यूनोपैथोजेनेसिस पर जीनोमिक और मॉलीक्‍युलर अध्‍ययन (एक बहु केंद्र) योजना 68.22 लाख रु. की कुल लागत के साथ)

 

18. बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार और कैंडीला फ़ार्माशूटिकल लिमिटेड : प्रमुख अन्‍वेषक और राष्‍ट्रीय समन्‍वयक इम्‍यूनोमॉडुलेटर की क्षमता और सुरक्षा (माइकोबैक्‍टीरियम डब्‍ल्‍यू) कोटि 2 पल्‍मोनरी ट्यूबरकुलोसिस रोगियों में एक सहायक चिकित्‍सा के रूप में इम्‍यूनोलॉजिकल अन्‍वेषणों के साथ (एक बहुकेंद्र अध्‍ययन कुल 526.54 लाख रुपए की कुल लागत के साथ)

     परियोजना स्‍वास्‍थ्‍य की राष्‍ट्रीय संस्‍था के साथ पंजीयित (एनसीटी 00265226)

 

19. अंतरराष्‍ट्रीय एटॉमिक ऊर्जा एजेंसी (आईएईए), विएना, ऑस्‍ट्ररिया

     ब्रांकियल अस्‍थमा में गेस्‍ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्‍स (जीईआर) की भूमिका

 

20. टीबी और एसटीआई / एचआईवी नियंत्रण में चिकित्‍सा स्‍कूलों के अन्‍वेषण पर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के सम्‍मेलन की व्‍यवस्‍था (सीईएआरओ)

श्‍श्‍श्‍ ित्‍सा  य य यम ] ,uMhMhVhlh] ,El  fy;k tk,xk k ldrs gSaAesa dh xbZA n jksM Vw foacyMu us tuojh 2015 esa us'kuy Qkbuy ds fy, 1

21. अंतरराष्‍ट्रीय एटॉमिक ऊर्जा एजेंसी (आईएईए), विएन्‍ना, ऑस्‍टरिया  

     पल्‍मोनरी एम्‍बोलिज्‍म के लिए प्रबंधन कौशल का मूल्‍यांकन

 

22.  बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार संक्रामक रोगों के इम्‍यूनो – प्रोटियोमिक्‍स आधारित निदान के लिए कार्यक्रम समर्थन

 

23. राष्‍ट्रीय एड्स नियंत्रण संस्‍था (एनएसीओ); स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय; भारत सरकार

     एंटिरेट्रोवायरल उपचार (एआरटी) एचआईवी / एआईडीएस रोगियों के नि:शुल्‍क उपचार के लिए केंद्र

 

24. दिल्‍ली का संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम एनसीटी क्षेत्र जिला टीबी केंद्र के माध्‍यम से; स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार

     टीबी रोगियों के नि:शुल्‍क उपचार के लिए नोडल केंद्र

 

25. राष्‍ट्रीय एड्स नियंत्रण संस्‍था (एनएसीओ); स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार

     तपेदिक के रोगियों में सप्‍ताह में तीन बार आवर्तक अल्‍प अवधि एंटीट्यूबरकुलोसिस कीमोथेरेपी की क्षमता एचआईवी इंफेक्‍शन के साथ और इसके बिना  

     परियोजना स्‍वास्‍थ्‍य की राष्‍ट्रीय संस्‍था के साथ पंजीकृत है (एनसीटी 00698334)

 

26. दिल्‍ली का संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम एनसीटी

     भारत के संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम आरएनटीसीपी के अंतर्गत उपचार निष्‍कर्ष और सीएटी 2 पल्‍मोनरी ट्यूबरकुलोसिस में औषधि प्रतिरोध

 

27. एवेंटिस फार्मास्‍यूटिकल्‍स इंक., यूएसए

     विस्‍तारित वीनस पर एक डबल ब्‍लाइंड, प्‍लेसेबो नियंत्रित, समांतर मल्टिसेंटर अध्‍ययन

     दीर्घ गतिहीनता वाले अत्‍यंत बीमार रोगियों में थ्रोम्‍बोएम्‍बोलिज्‍म (वीटीई) प्रोफिलेक्सिस  

 

28. फ़ाइज़र इंडिया लिमिटेड

     चिकित्‍सा वार्डों में और विशेष रक्षा यूनिट (आईसीयू) में प्रविष्‍ट रोगियों में गहरी वीनस थ्रांबोसिस (डीवीटी) का समाप्‍त

 

29. बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार

     इम्‍यूनोमॉडुलेटर एमडब्‍ल्‍यू की क्षमता और सुरक्षा कैटेगरी 1 पल्‍मोनरी ट्यूबरकुलोसिस में एक अनुबद्ध चिकित्‍सा इम्‍यूनोलॉजिकल पैरामीटरों के आकलन के साथ (डबल ब्‍लाइंड, रेण्‍डोमाइज्‍ड, प्‍लेसाबो – कंट्रोल्‍ड, क्लिनिकल ट्रायल)

     परियोजना स्‍वास्‍थ्‍य की राष्‍ट्रीय संस्‍था के साथ रजिस्‍टर्ड (एनसीटी00341328)

 

 

30. फ़ाइजर इंडिया लिमिटेड।

     दक्षिण दिल्‍ली में निद्रा विकृत श्‍वसन में प्रचलन और जोखिम फेक्‍टरों का जनसंख्‍या आधारित अध्‍ययन (दक्षिण दिल्‍ली निद्रा अध्‍ययन कोहोर्ट के रूप में निर्दिष्‍ट (एसडीएसएससी))।

 

31. केंद्रीय टीबी विभाग, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, निर्माण भवन, भारत सरकार, नई दिल्‍ली

     भारत में तपेदिक होने पर एक बहुकेंद्रीय सर्वेक्षण।

 

32. बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार

     कोटि 1 पल्‍मोनरी तपेदिक में एक अनुबद्ध रोगोपचार के रूप में ओरल जि़ंक प्रयोग की क्षमता इम्‍युनोलॉजिकल पैरामीटरों के निर्धारण के साथ (डबल ब्‍लाइंड, रेण्‍डोमाइज्‍ड, प्‍लेसबो – कंट्रोल्‍ड, मल्टिसेंटर क्लिनिकल ट्रायल)

     राष्‍ट्रीय परियोजना स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था के साथ पंजीकृत (एनसीटी 00698386)

 

33. बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार

     कोटि 1 पल्‍मोनरी तपेदिक में एक अनुबद्ध रोगोपचार के रूप में ओरल विटामिन डी की भूमिका इम्‍यूनोलॉजिकल पैरामीटरों के निर्धारण के साथ (डबल ब्‍लाइंड, रेण्‍डोमाइज्‍ड, प्‍लेसबो – कंट्रोल्‍ड, क्लिनिकल ट्रायल)

 

34. बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार

एचआईवी – टीबी को-इंफेक्‍शन के साथ रोगियों के बीच प्रच्‍छन्‍न टीबी पर एचआईवी संक्रमण का प्रभाव (साइट को राष्‍ट्रीय सुविधा के रूप में निर्दिष्‍ट किया गया है)

 

35. दिल्‍ली का संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम एनसीटी

     अद्यतन टीबी संक्रमण और तपेदिक रोगों में ट्यूबरकुलिन चर्म परीक्षण (टीएसटी) और इंटरफेरोन रिलीज़ एस्‍से की तुलना।

 

36. यूरोपियन यूनियन फ्रेम कार्यक्रम 7 कार्य (एक समन्‍वयन क्रिया एफपी 7 – स्‍वास्‍थ्‍य 2007 बी टीबी ससजेंट के लिए प्रस्‍ताव) अंतरराष्‍ट्रीय सहयोगी टीबी परियोजना

आगामी दशकों में अन्‍वेषण संवेग संपोषण – तपेदिक के लिए अन्‍वेषकों की अगली पीढ़ी की मेंट्रोइंग

(i) अत्‍यधिक धूम्रपान के एक पैकेज का संघट्ट – अवसान हस्‍तक्षेप बनाम सिफारिश, मौलिक धूम्रपान – स्मियर में निष्‍कर्षों पर अवसान परामर्श – पल्मोनरी  तपेदिक के साथ वास्‍तविक रोगी; एक यदृच्छित नियंत्रित प्रयास

(ii)  एचआईवी प्रभावित व्‍यक्तियों में सक्रिय तपेदिक और न्‍युमोनिया के विकास पर विटामिन डी पूरकता के प्रभाव को तय करने के लिए एक प्रत्‍याशित डबल ब्‍लाइंड, रेण्‍डोमाइज्‍ड नियंत्रित प्रयास (आरसीटी)।

 

37.    विश्‍वास नैदानिक अनुसंधान सेवाएं (पी) लिमिटेड

अंतरराष्‍ट्रीय, बहु केंद्रीय, यादृच्छिक, डबल ब्‍लाइंड अध्‍ययन ईनॉक्‍सेपरीन के साथ उपचार किए गए अत्‍यंत बीमार चिकित्‍सा रोगियों में समग्र अत्‍यंता की तुलना इनोक्‍सोपरीन के साथ की जा सकती है क्रमबद्ध इलास्टिक स्‍टॉकिंग्‍ज़ के अतिरिक्‍त।

 

38.    फ़ाइज़र इंडिया लिमिटेड

अवरोध वाली निद्रा और मेटाबोलिक सिंड्रोम पर सतत सकारात्‍मक वायुमार्ग दबाव (सीपीएपी) के साथ उपचार के प्रभाव में मेटाबोलिक सिंड्रोम की व्याप्तता

राष्‍ट्रीय परियोजना स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था के साथ पंजीकृत (एनसीटी 00694616)

 

39.    टिबोटेक बीवीबीए, जनरल डे विट्टेलान एलआईआईबी3, मेचेलेन, बेलजियम

एक फे़ज 2, प्‍लेसबो कंट्रोल्‍ड, डबल ब्‍लाइंड बैक्‍टीरियल विरोधी क्रिया के मूल्‍यांकन के लिए रेण्‍डोमाइज्‍ड प्रयास, सुरक्षा और टीएमसी 207 की सहनशीलता स्‍पूटम स्मियर पॉजिटिव पल्मोनरी  इंफेक्‍शन के साथ मल्‍टी ड्रग रेजिस्‍टेंट माइकोबैक्‍टीरियम ट्यूबरकुलोसिस (एमडीआर-टीबी)  

 

40.    भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर)

ओएसए की संस्‍था मेटाबोलिक सिंड्रोम, इंसुलिन प्रतिरोध और टीएनएफ – अल्‍फा, आईएल 6 तथा एसीई पॉलिमोर्फिज्‍म के साथ

 

41.    भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर)

निरापद पुनर्निर्माण प्रदाहक सिंड्रोम (आईआरआईएस) एचआईवी / एड्स रोगियों में तपेदिक को - इंफेक्‍शन (टीबी) लेने वाले एचएएआरटी के साथ और उसके बिना।

 

42.    भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर)

तपेदिक के शीघ्र और निश्चित निदान के लिए पोटेंशियल बायोमार्कर की पहचान हेतु तपेदिक पलिअरल फ्लुइड का प्रोटिओमिक अध्‍ययन।

 

43.    इन्‍नोवेटिव न्‍यू ड्राइगनोस्टिक्‍स के लिए फाउंडेशन (एफआईएनडी), बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन जेनेवा केंद्रीय टीबी विभाग के साथ, स्‍वास्‍थ्‍य परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार

       एमडीआर-टीबी के डायग्‍नोसिस के लिए इंटरमीडिएट रेफरेंस लैब स्‍थापित करने पर संयुक्‍त परियोजना

 

44.    बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार

       अवरोधक निद्रा एपनिया वाले रोगियों में बायोमार्कर्स पर सतत सकारात्‍मक वायुमार्ग दबाव सीपीएपी का प्रभाव

 

45.    क्षेत्र जिला टीबी के माध्‍यम से दिल्‍ली के एनसीटी का संशोधित राष्‍ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम

       ड्रग रेजिस्‍टेंट टीबी का प्रोग्रामेटिक मेनेजमेंट (पीएमडीटी) साइट

 

46.    केंद्रीय टीबी विभाग, स्‍वास्‍थ्‍य परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार तपेदिक के लिए इंटरमीडिएट रेफरेंस प्रयोगशाला (आईआरएल)

 

47.    विज्ञान और इंजीनियरिंग अनुसंधान बोर्ड का विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार

अनुसंधान बढ़ाने के लिए जे सी बोस नेशनल फैलोशिप प्रोफेसर एस के शर्मा को उनकी शैक्षिक और अनुसंधान विशिष्‍टता के आधार पर दी गई

 

48.    भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर)

       अत्‍यधिक धूम्रपान के एक पैकेज का प्रभाव अवसान हस्‍तक्षेप बनाम सुझाया गया, मूल धूम्रपान – स्मिअर में निष्‍कर्षों पर अवसान परामर्श – पल्‍मोनरी तपेदिक के साथ वास्‍तविक रोगी; एक रेण्‍डोमाइज्‍ड नियंत्रित प्रयास

49.    बायोटेक्‍नोलॉजी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार

यूरिनरी प्रोटिओसोम रोगियों में विश्‍लेषण करता है बाधक निद्रा एपनी के साथ

 


 

नवाचार

 

1. डीएम पाठ्यक्रम  

भारत के चिकित्‍सा विभाग, एम्‍स, नई दिल्‍ली में पहली बार आरंभ होने वाले हैं जो दो नए डीएम पाठ्यक्रम में आरंभ किए जाएंगे।

 

. इंफेक्‍शस रोगों में डीएम  

. डीएम वातावरणीय व्‍यावसायिक और गहन अवधान औषधि

 

2. एक्‍स्‍ट्रा पल्‍मोनरी तपेदिक के लिए उत्‍कृष्‍टता का केंद्र

चिकित्‍सा विभाग, एम्‍स, नई दिल्‍ली में स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रवर्तित एक्‍सटरापल्‍मोरी तपेदिक के लिए एक उत्‍कृष्‍ट केंद्र स्‍थापित किया गया।

 

3. तपेदिक में प्रशिक्षण और अनुसंधान के लिए डब्‍ल्‍यूएचओ को लैबोरेटिंग केंद्र

मेरे पर्यवेक्षण में, औषधि विभाग को तपेदिक में प्रशिक्षण और अनुसंधान के लिए डब्‍ल्‍यूएचओ कोलैबोरेटिंग केंद्र निर्दिष्‍ट किया गया है।

 

4. जन जातीय स्‍वास्‍थ्‍य रक्षा उपक्रमण

केलान्‍ग, लाहौल और स्पिति (हिमाचल प्रदेश) में स्‍थापित एक मॉडल रुरल हेल्‍थ रिसर्च यूनिट (एमआरएचआरयू), पहुंचने में कठिन भारत के दूरवर्ती क्षेत्र में बर्फ से भरे पर्वतीय क्षेत्र में पहुंचना कठिन है; राष्‍ट्रीय जनजातीय स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍था, जबलपुर (एमपी) – भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद्,नई दिल्‍ली।

 

5. दिशानिर्देश

निम्‍न पर दिशानिर्देश बनाए :

 

क. राष्‍ट्रीय अवरोधिक निद्रा ऐप्‍नी दिशानिर्देश : आईएनओएसए 2014

ख. लेटेंट तपेदिक दिशानिर्देश

ग. वयस्‍क प्रतिरक्षा, 2009

घ. वयस्‍क प्रतिरक्षा, 2014 (तैयारी हो रही है)

ड. राष्‍ट्रीय एक्‍सट्रापल्‍मोनरी तपेदिक दिशा निर्देश – 2014 पर (तैयारी हो रही है)

 

6. संशोधित बर्लिन प्रश्‍नावली भारतीय रेटिंग में प्रतिपादित और अभिपुष्‍ट की

 

7. भारत में ओएसए निद्रा रजिस्‍टरी का आरंभ

 

Zo2 Framework Settings

Select one of sample color schemes

Google Font

Menu Font
Body Font
Heading Font

Body

Background Color
Text Color
Link Color
Background Image

Header Wrapper

Background Color
Modules Title
Text Color
Link Color
Background Image

Menu Wrapper

Background Color
Modules Title
Text Color
Link Color
Background Image

Main Wrapper

Background Color
Modules Title
Text Color
Link Color
Background Image

Inset Wrapper

Background Color
Modules Title
Text Color
Link Color
Background Image

Bottom Wrapper

Background Color
Modules Title
Text Color
Link Color
Background Image
Background Color
Modules Title
Text Color
Link Color
Background Image
 
Top of Page