Default Theme
AIIMS NEW
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली
All India Institute Of Medical Sciences, New Delhi
कॉल सेंटर:  011-26589142

नया क्‍या है

 

 

 

 

 नया क्‍या है

 

 

प्रो रजत रे की सेवा निवृत्ति और प्रो एस.के. खंडेलवाल ने प्रमुख, एनडीडीटीसी रूप में कार्यभार संभाला

प्रो. रजत रे 30 सितंबर 2013 को एम्‍स, नई दिल्‍ली से सेवा निवृ‍त्त हुए। उनकी सेवा निवृत्ति एनडीडीटीसी में एक युग का अंत है। प्रो. रे ने भारत में मादक पदार्थ विकारों के इलाज के लिए अनेक कार्य किए और राष्‍ट्रीय तथा अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर मादक पदार्थ विकारों के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय योगदान दिया है। उनके जुनून ने मादक पदार्थ विकारों के क्षेत्र में कार्य करने के लिए अनेक व्‍यावसायिकों को प्रेरित किया है। उनकी सेवा निवृत्ति के अवसर पर ''मादक पदार्थ विकारों के जन स्‍वास्‍थ्‍य पक्ष – एनडीडीटीसी, एम्‍स की भूमिका'' पर एक गोष्‍ठी का आयोजन किया गया और विदाई समारोह आयोजित किया गया।

<![if !vml]><![endif]>

प्रो रजत रे की सेवा निवृत्ति के बाद और प्रो एस.के. खंडेलवाल ने प्रमुख, एनडीडीटीसी रूप में कार्यभार संभाला। केंद्र प्रो. खण्‍डेलवाल के नेतृत्‍व में कार्य जारी रखेगा।

 

पोर्टल एल्‍कोहल वेब इंडिया पर दर्शकों का आना जारी

एनडीडीटीसी, एम्‍स द्वारा पोर्टल एल्‍कोहल वेब इंडिया पर आरंभ किया गया जो आम जनता, व्‍यावसायिकों और नीति निर्माताओं को उपयोगी जानकारी देगा। पोर्टल की अनोखी विशेषता शराब के उपयोग की समस्‍या के लिए ऑनलाइन छानबीन और हस्‍तक्षेप है। इस प्रकार एक डॉक्‍टर या सलाहकार के पास जाए बिना आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी समय शराब की समस्‍या के बारे में सलाह ले सकते हैं। 

 

एनडीडीटीसी द्वारा राष्‍ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के लिए ओपीओइड प्रतिस्‍थापन उपचार हस्तक्षेप को उन्‍नत बनाने पर तकनीकी सहायता और क्षमता निर्माण जारी

एनडीडीटीसी के संकाय सदस्‍यों द्वारा राष्‍ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के लिए ओपीओइड प्रतिस्‍थापन उपचार हस्‍तक्षेप को उन्‍नत बनाने के लिए तकनीकी सहायता दी जाती है। सितंबर 2013 में ''भारत में ओपिओइड प्रतिस्‍थापन उपचार में गुणवत्ता आश्‍वासन – मेंटर्स के लिए एक संदर्भ मार्गदर्शिका'' नामक दस्‍तावेज प्रकाशित किया गया है। ओएसटी पर नए प्रशिक्षकों के क्षमता निर्माण के लिए प्रशिक्षकों का प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। एनडीडीटीसी द्वारा ओएसटी पर कार्य करने वाले सेवा प्रदाताओं के क्षमता निर्माण हेतु ''राष्‍ट्रीय तकनीकी प्रशिक्षण केंद्र (एनटीटीसी) के रूप में अब तक 30 से अधिक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। इसके अलावा एनडीडीटीसी द्वारा उक्‍त प्रशिक्षणों के आयोजन हेतु अन्‍य चिकित्‍सा संस्‍थानों को भी समर्थन दिया जाता है।

 

 

राष्ट्रीय मादक पदार्थ निर्भरता उपचार केन्द्र, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में 11 वां वार्षिक दिवस समारोह

राष्ट्रीय मादक पदार्थ निर्भरता उपचार केन्द्र ने अपना 11 वां वार्षिक दिवस समारोह 15 अप्रैल 2014 को आयोजित किया। इस अवसर पर एनडीडीटीसी ने ''तंबाकू उपभोग की चुनौतियों से निपटना'' नामक गोष्ठी का आयोजन किया। एम्‍स के संकाय अध्‍यक्ष, प्रो. पी के जुल्‍का ने कार्यक्रम की अध्‍यक्षता की। इस अवसर पर डॉक्‍टर डी के शर्मा, चिकित्‍सा अधीक्षक, एम्‍स उपस्थित थे। प्रो. एस. के. खण्‍डेलवाल, प्रमुख, एनडीडीटीसी ने वार्षिक प्रतिवेदन और वर्ष 2013 – 14 में केंद्र की उप‍लब्धियों का विवरण प्रस्‍तुत किया। स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय एवं पब्लिक हैल्‍थ फाउंडेशन ऑफ इण्डिया के प्रतिनिधियों ने भारत में तंबाकू पर नियंत्रण के लिए किए जाने वाले अपने प्रयासों की जानकारी दी। इस अवसर पर एक प्रदर्शनी ''तंबाकू का उपयोग : उन्‍हें पहले ही रोकें'' का भी आयोजन किया गया जिसमें एनडीडीटीसी ने अपने आस पास के स्‍कूलों के छात्रों को आमंत्रित किया। इस प्रदर्शनी का उद्घाटन संकाय अध्‍यक्ष, एम्‍स ने किया और यह छात्रों के लिए तीन दिनों तक खोली गई थी। एनडीडीटीसी उपचार प्रदान करते हुए, देखभाल के देश विशिष्‍ट मॉडलों के विकास और मादक पदार्थों के उपयोग के उपचार में प्रशिक्षण प्रदान करने की चुनौतियों से निपटने के लिए अथक प्रयास जारी रखता है।   

 

<![if !vml]><![endif]>

 

 

 

 

 

तनाव सह कौशल पर वैज्ञानिक सम्मेलन: वैज्ञानिक अद्यतन आईआईटी सभागार (डोगरा हॉल), हौज खास, नई दिल्ली में 30 और 31 अगस्त 2014 को आयोजित किया गया था

 

श्री श्री ग्‍लोबल मीडिएटिंग डॉक्‍टर्स एसोसिएशन (श्री श्री जीएमडीए) और मनोचिकित्‍सा विभाग, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्‍स) द्वारा तनाव में कमी लाने के कौशलों पर एक वैज्ञानिक सम्‍मेलन : वैज्ञानिक अद्यतन विवरणों पर 30 और 31 अगस्‍त 2014 के दौरान आयोजित किया गया। यह कार्यक्रम आईआईटी ऑडिटोरियम (डोगरा हॉल), हौज खास, नई दिल्‍ली में आयोजित किया गया था। इस बैठक में निजी और सरकारी अस्‍पतालों के डॉक्‍टरों, नर्सों, वैज्ञानिकों, अनुसंधान कर्ताओं, मनोवैज्ञानिकों, भैषजिकी वैज्ञानिकों, स्‍वास्‍थ्‍य प्रशासकों, चिकित्‍सा  छात्रा, स्‍वास्‍थ्‍य कार्मिकों तथा विभिन्‍न क्षेत्रों के अंतरराष्‍ट्रीय शिष्‍ट मंडल सदस्‍यों ने भाग लिया। इस सम्‍मेलन को मुख्‍य अति‍थि श्री श्री रवि शंकर, आध्‍यात्मिक गुरू और मानवता वादी तथा आर्ट ऑफ लिविंग के संस्‍थापक, सम्‍मानित अतिथि, डॉ. हर्ष वर्धन, माननीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री, भारत सरकार, प्रो. एम. सी मिश्रा, निदेशक, एम्‍स, प्रो. एस के खण्‍डेलवाल, विभाग अध्‍यक्ष मनोचिकित्‍सा और प्रमुख एनडीडीटीसी, एम्‍स, डॉ. गंगाधर, बी एन, मनोचिकित्‍सा विभाग, निमहांस, बैंगलोर, डॉ. सतवीर एस खालसा, अनुसंधान निदेशक, कुण्‍डलिनी अनुसंधान संस्‍थान, डॉ. किशोर चांदीरमानी, निजी परामर्श दाता मनोवैज्ञानिक, नफील्‍ड हैल्‍थ नोर्थ स्‍टेफोर्ड शायर अस्‍पताल, यूके और अन्‍य अनेक ने संबोधित किया। इस सम्‍मेलन से व्‍यावसायिकों को विभिन्‍न विशेषज्ञताओं वाले लोगों से सीखने, जानने और योग पर विशेष बल सहित तनाव कम करने की विभिन्‍न तकनीकों के विषय में अपना ज्ञान बढ़ाने का अनोखा अवसर मिला। योग/ध्‍यान पर अनुसंधान के महत्‍व से स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्र में इसकी व्‍यापक स्‍वीकार्यता पर बल दिया गया। 

 

<![if !vml]><![endif]>

 

राष्‍ट्रीय मादक पदार्थ निर्भरता उपचार केंद्र, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान

आपके पेज को भी बढ़ावा दें


\n यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.  " style='width:369.75pt;height:90pt;visibility:visible'> <![if !vml]>Text Box: Contact usNational Drug Dependence Treatment CentreSector-19, Kamla Nehru NagarC.G.O.Complex, Ghaziabad (U.P.)Tel: 0120-2788974 – 78, Fax: 
 <script type='text/javascript'>
 <!--
 var prefix = 'ma' + 'il' + 'to';
 var path = 'hr' + 'ef' + '=';
 var addy8466 = '0120-2788979nddtc.aiims' + '@';
 addy8466 = addy8466 + 'gmail' + '.' + 'com';
 document.write('<a ' + path + '\'' + prefix + ':' + addy8466 + '\'>');
 document.write(addy8466);
 document.write('<\/a>');
 //-->\n </script><script type='text/javascript'>
 <!--
 document.write('<span style=\'display: none;\'>');
 //-->
 </script>यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.
 <script type='text/javascript'>
 <!--
 document.write('</');
 document.write('span>');
 //-->
 </script> <![endif]>



 


 

 

If you want any change or rectification please Click Here

Top of Page