Default Theme
AIIMS NEW
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली
All India Institute Of Medical Sciences, New Delhi
कॉल सेंटर:  011-26589142

सामुदायिक नेत्र उपचार सेवाएँ

सामुदायिक नेत्र उपचार सेवाएँ

दिल्ली के प्राथमिक नेत्र उपचार केंद्रों में प्राथमिक नेत्र उपचार सेवाएं: हम गरीब, लाभ से वंचित और अधिकारविहीन आबादी वाली शहरी मलिन बस्तियों और पुनर्वास कॉलोनियों में प्राथमिक नेत्र उपचार क्लीनिक (विजन सेंटर) चलाते हैं। ये क्लीनिक आम नेत्ररोग संबंधी की व्यापक प्राथमिक नेत्र उपचार सेवाएँ प्रदान करते हैं। मोतियाबिंद, मधुमेह रेटिनोपैथी, ग्लूकोमा, कॉर्नियल रोग, स्प्रिंट आदि के लिए जाँच परिधीय स्तर पर आउटरीच शिविर आयोजित करके भी की जाती है और इनका उचित उपचार रेफरल प्रणाली के माध्यम से किया जाता है।

स्वैच्छिक कार्यकर्ता प्रशिक्षण: सामुदायिक नेत्र विज्ञान प्राथमिक नेत्र उपचार में स्वैच्छिक कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण प्रदान करता है और विजन सेंटरों और शिविर गतिविधियों में स्वैच्छिक कार्यकर्ताओं को सम्मिलित करता है।

प्राथमिक नेत्र उपचार स्वास्थ्य शिक्षा: नेत्र स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता पैदा करने के लिए नियमित नेत्र स्वास्थ्य शिक्षा कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

स्कूल आधारित परीक्षण: विभाग दिल्ली के विभिन्न स्कूल के बच्चों को रिफ्रैक्टिव विकारों हेतु परीक्षण और स्कूल शिक्षकों को इस हेतु प्रशिक्षित करने में भी सम्मिलित था। परीक्षण, विभाग के मौजूदा विजन सेंटरों के माध्यम से और स्कूल आधारित स्क्रीनिंग गतिविधियों में शिक्षकों को सम्मिलित करने और उनके प्रशिक्षण के माध्यम से भी किया जाता है।

रीच इन कार्यक्रम (आरआईपी): रीच इन कार्यक्रम, समुदाय आधारित संगठनों के साथ साझेदारी के माध्यम से मोतियाबिंद रोगियों की उपचार से वंचित और कमजोर आबादी तक पहुँचने की एक रणनीति है। इसके माध्यम से, दिल्ली के आस-पास के इलाकों में स्क्रीनिंग शिविर आयोजित किए जाते हैं और डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केंद्र में सामुदायिक नेत्र देखभाल वार्ड के माध्यम से मुफ्त मोतियाबिंद सर्जिकल सेवाएं प्रदान की जाती हैं। रीच इन कार्यक्रम में 10 से अधिक गैर सरकारी संगठन शामिल हैं।

शहरी मलिन बस्तियों में मधुमेह रेटिनोपैथी (डीआर) की जाँच: शहरी झुग्गी बस्तियों में मधुमेह रेटिनोपैथी (डीआर) की जाँच हेतु स्थानीय एनजीओ के समर्थन से रोजाना एक शिविर का आयोजन किया जाता है। ज्ञात मधुमेह रोगियों की स्वैच्छिक कार्यकर्ताओं के सहयोग से घर-घर जाकर पहचान की जाती है। इन रोगियों को स्थानीय क्षेत्रों में आयोजित डीआर स्क्रीनिंग शिविरों में आमंत्रित किया जाता है। डीआर मामलों की जाँच के लिए एक कम लागत वाले नॉन मैड्रिटिक फंडूस कैमरे का उपयोग किया जाता है। सभी संदिग्ध डीआर मामलों को आगे उपचार के लिए डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केंद्र में संदर्भित किया जाता है।

जनवरी से दिसंबर 2016 की अवधि के दौरान रोगी उपचार के संबंध में सामुदायिक नेत्र विज्ञान (ओप्थाल्मोलॉजी) विभाग की गतिविधियों के परिणाम:-

सामुदायिक आधारित नेत्र उपचार सेवाएं : जनवरी 2016 से दिसंबर 2016 तक

.

मलिन बस्तियों में नेत्र देखभाल सेवाएं

आउटपुट

 

प्राथमिक नेत्र उपचार क्लीनिक

15

 

स्लम क्लस्टर में पीईसी काउंटरों में व्यक्ति उपस्थिति

40884

 

स्लम क्लस्टर के पीईसी केंद्रों में किया गया अपवर्तन

17133

 

मलिन बस्तियों में व्यक्तियों को चश्में का निर्धारण

15524

 

डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केंद्र के लिए निर्दिष्ट रोगी

4820

.

प्राथमिक नेत्र उपचार स्वयंसेवी प्रशिक्षण कार्यक्रम

 

स्वयंसेवी प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

20

 

प्रशिक्षित स्वयंसेवक

217

.

नेत्र स्वास्थ्य शिक्षा कार्यक्रम

 

संचालित किए गए नेत्र स्वास्थ्य शिक्षा कार्यक्रम

492

 

स्वास्थ्य शिक्षा कार्यक्रमों में प्रतिभागी

18908

.

ग्रामीण और दूरस्थ क्षेत्रों में मोतियाबिंद सर्जरी के लिए रीच-इन-कार्यक्रम

 

संचालित वयस्क जाँच शिविर

11

 

जाँच किए गए व्यक्ति

1295

 

डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केंद्र के लिए निर्दिष्ट रोगी

408

.

मधुमेह रेटिनोपैथी जाँच शिविर

 

आयोजित डीआर जाँच शिविरों की कुल संख्या

5

 

शिविर में जाँचे गए मधुमेह रोगी

1007

 

डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केंद्र को निर्दिष्ट किए गए और कुल अभिज्ञात डीआर रोगी

144

.

सामुदायिक नेत्र विज्ञान के तहत डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केंद्र में इलाज के लिए सूचित रोगी

 

सामुदायिक नेत्र विज्ञान के तहत सूचित कुल रोगीः

2711

 

सामुदायिक नेत्र विज्ञान के तहत मोतियाबिंद सर्जरी किए गए कुल रोगी

1615

.

सामुदायिक नेत्र विज्ञान के तहत मोतियाबिंद ऑपरेशन किए गए रोगियों का अनुवर्तन

 

अनुवर्ती शिविर आयोजित

41

 

अनुवर्ती शिविरों में जाँचे गए रोगी

772

.

सामुदायिक नेत्र विज्ञान में अल्प-दृष्टि पुनर्वास सेवाएं

 

 

अल्प दृष्टि पुनर्वास सेवाओं का लाभ लेने वाले रोगी

564

 

ब्लाइंड स्कूलों (अंध विद्यालयों) में सफलतापूर्वक भर्ती किए गए

68

 

मोबिल्टी प्रशिक्षण प्राप्त किया

177

 

एडीएल के लिए परामर्श प्राप्त किया

345

 

Top of Page